scriptNow six Congress MPs from Rajasthan in Rajya Sabha | राज्यसभा में राजस्थान के 10 में से 6 कांग्रेस सांसद, अब साल 2024 में होंगे दो सीटों पर चुनाव | Patrika News

राज्यसभा में राजस्थान के 10 में से 6 कांग्रेस सांसद, अब साल 2024 में होंगे दो सीटों पर चुनाव

-कांग्रेस के 6 राज्यसभा सांसदों में से 5 सांसद हैं बाहरी, -केवल एक नीरज डांगी ही स्थानीय नेता के तौर पर राज्य पहुंचे, दिसंबर 2023 में विधानसभा चुनाव के परिणाम पर निर्भर रहेगा राज्यसभा का गणित, जून 2019 से पहले नहीं था राज्यसभा में कांग्रेस का एक भी सांसद

जयपुर

Published: June 11, 2022 10:45:22 am

जयपुर। प्रदेश में शुक्रवार को चार राज्यसभा सीटों पर हुए चुनाव में 3 सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद अब राजस्थान की 10 राज्यसभा सीटों में से 6 सीट पर कांग्रेस पार्टी का कब्जा हो गया है। राज्यसभा में अब पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री केसी वेणुगोपाल, नीरज डांगी, रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हैं तो वहीं बीजेपी में डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा, भूपेंद्र यादव, राजेंद्र गहलोत और घनश्याम तिवाड़ी 4 सांसद हैं।

rajya sabha
rajya sabha

अब अप्रैल 2024 में होगा 2 सीटों पर चुनाव
इधर राज्यसभा की 4 सीटों पर चुनाव संपन्न होने के बाद अब अप्रैल 2024 में राज्यसभा की 2 सीटों पर चुनाव होगा। डॉ किरोड़ी लाल मीणा और भूपेंद्र यादव का कार्यकाल अप्रैल 2024 में समाप्त होगा।

अब विधानसभा चुनाव के परिणाम की गणित पर निर्भर रहेगा चुनाव
राज्यसभा चुनाव में भले ही कांग्रेस पार्टी ने 10 में से 6 सीटों पर कब्जा कर लिया हो लेकिन अब दिसंबर 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में आने वाले परिणाम पर ही राज्यसभा चुनाव का गणित निर्भर करेगा। साल 2023 के विधानसभा चुनाव में किस पार्टी की सरकार बनती है और संख्या बल किसके पास ज्यादा रहता है उसी आधार पर राज्यसभा सीटों का गणित तय होगा।

राजस्थान कांग्रेस के 6 में से 5 सांसद बाहरी
इधर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों में से भले ही कांग्रेस पार्टी ने 6 सीटों पर कब्जा कर लिया हो लेकिन कांग्रेस में अंदर खाने ही इसे लेकर नाराजगी अभी भी बरकरार है। दरअसल विरोध इसलिए है क्योंकि राजस्थान कांग्रेस के 6 सांसदों में से 5 सांसद बाहरी हैं।

केवल एक नीरज डांगी ही स्थानीय सांसद हैं।पार्टी में स्थानीय नेताओं को राज्यसभा में मौका देने की मांग जोर-शोर से उठाई थी लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने तीनों सीटों पर केंद्रीय नेताओं को मौका दिया। नाराजगी के बावजूद कांग्रेस के नेताओं और विधायकों ने आलाकमान के फैसले को स्वीकार किया और 3 सांसदों को वोद देकर चुनाव जिताया।

जून 2019 से पहले नहीं था एक भी सांसद
दिलचस्प बात यह है कि जून 2019 से पहले न तो राज्यसभा और न ही लोकसभा में कांग्रेस का एक भी सांसद था। लोकसभा चुनाव में जहां पार्टी सभी 25 सीटों पर चुनाव हार गई थी तो यही हाल राज्यसभा में भी रहा था।

हालांकि जून 2019 में प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी के निधन के चलते उनकी सीट रिक्त हुई थी, जिस पर कांग्रेस पार्टी ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह को उम्मीदवार बनाया था। हालांकि तब बीजेपी ने मनमोहन सिंह के सामने कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं किया था, जिससे मनमोहन सिंह निर्विरोध राज्यसभा से चुने गए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.