scriptNow the signal of India will come in 59 villages of the border | India-Pakistan: अब सीमा के 59 गावों में पाकिस्तान का नहीं,भारत का सिग्नल आएगा | Patrika News

India-Pakistan: अब सीमा के 59 गावों में पाकिस्तान का नहीं,भारत का सिग्नल आएगा

अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे गांवों और चैकपोस्ट पर पाकिस्तान के मोबाइल सिग्नल आने से खलबली मची है। ऐसे सभी गांवों व चैकपोस्ट को अब पुख्ता तरीके से मोबाइल कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा, जिससे वहां पाकिस्तान के मोबाइल सिग्नल कनेक्टिविटी से जुड़ने की आशंका को खत्म किया जा सके।

जयपुर

Published: May 22, 2022 04:53:44 pm

अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे गांवों और चैकपोस्ट पर पाकिस्तान के मोबाइल सिग्नल आने से खलबली मची है। ऐसे सभी गांवों व चैकपोस्ट को अब पुख्ता तरीके से मोबाइल कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा, जिससे वहां पाकिस्तान के मोबाइल सिग्नल कनेक्टिविटी से जुड़ने की आशंका को खत्म किया जा सके।
दूरसंचार विभाग ने हाल ही इंटेलीजेंस अफसरों के साथ राजस्थान के 4 जिलों में फैली पाकिस्तान से लगी 1070 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मोबाइल कवरेज ड्राइव टेस्ट किया, जिसमें यह हालात सामने आए हैं। यह पाया गया कि 138 में से 59 गांवों में या तो सिग्नल था ही नहीं, या फिर कनेक्टिविटी बेहद कमजोर थी।
उसके बाद 14 इलाकों में मोबाइल ऑपरेटरों से बेहतर कनेक्टिविटी उपलब्ध करवाई गई। बाकी 45 गांव में टावर व बीटीएस (बेस ट्रांसीवर स्टेशन) लगाने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। खास यह है कि सीमा से 10 किलोमीटर अंदर तक सभी इलाकों में अब पुख्ता मोबाइल कनेक्टिविटी को अनिवार्य कर दिया गया है।
bsf.jpg
14 गांवों में नेटवर्क पुख्ता किया गया

1. बाड़मेर- बिन्दूसियानी, उम्मेदपुरा, राठौड़ों का तला, बीओपी (बभूते की ढाणी, हाथला, मुनाबाव)

2. श्रीगंगानगर- सुन्दरपुरा, मदनलाल, 3-एफसी, 3-एफीबी (शेख सरपाल), भुट्टीवाला, संगतपुर, रेनुका, बीओपी-सखी
अब इस फंड से लगेंगे टावर

45 गांव और चैकपोस्ट इलाकों से मोबाइल टावर बहुत दूर हैं। इसके लिए इन्हीं इलाकों में अलग से टावर लगाए जाएंगे। इसका खर्चा यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेटरी फंड से होगा। यह फंड दूरसंचार विभाग के पास है, जिसमें मोबाइल ऑपरेटर से एकमुश्त राशि ली जाती है।
प्रदेश के चारों जिलों में शामिल पाकिस्तान बॉर्डर इलाके में ड्राइव टेस्ट किया गया, जिसमें कई गांव, चैकपोस्ट में कवरेज नहीं होना सामने आया है। बॉर्डर से सटे 10 किलोमीटर तक के इलाकों में मोबाइल कनेक्टिविटी उपलब्ध कराई जा रही है।
सिद्धार्थ पोखरना, वरिष्ठ उपमहानिदेशक दूरसंचार विभाग

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Coal Scam: कोयला घोटाले मामले में ED ने पश्चिम बंगाल के 8 आईपीएस ऑफिसर को जारी किया समनजम्मू-कश्मीर के रामबन में लैंडस्लाइड व बादल फटने से दो लोगों की मौत, हिमाचल के कुल्लू में कई दुकानें बहींVP Jagdeep Dhankhar: 'किसान पुत्र' जगदीप धनखड़ ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ, झुंंझुनू सहित पूरे राजस्थान में जश्न का माहौल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.