राज्य में ऑक्सीजन टैंकर्स की संख्या 22 से बढ़कर 38 हुई

मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि राज्य सरकार के समन्वित प्रयासों से प्रदेश में ऑक्सीजन उपलब्धता की स्थिति बेहतर हो रही है। ऑक्सीजन परिवहन के लिए टैंकर्स की संख्या 22 से बढ़कर 38 हो गई है और अब ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर की डिलीवरी भी मिलना शुरू हो रही है।

By: Ashish

Published: 04 May 2021, 07:30 PM IST

जयपुर
मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि राज्य सरकार के समन्वित प्रयासों से प्रदेश में ऑक्सीजन उपलब्धता की स्थिति बेहतर हो रही है। ऑक्सीजन परिवहन के लिए टैंकर्स की संख्या 22 से बढ़कर 38 हो गई है और अब ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर की डिलीवरी भी मिलना शुरू हो रही है। आर्य ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रभारी अधिकारियों के साथ ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर, ऑक्सीजन टैंकर्स एवं ऑक्सीजन वितरण की स्थिति की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, राजस्थान फाउंडेशन एवं जिला कलक्टर्स के प्रयास एवं भामाशाहों के सहयोग से राज्य में ऑक्सीजन की उपलब्धता निरन्तर बढ़ रही है। विभिन्न फर्मों को दिए कार्यादेशों की पालना में ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर मिलने शुरू हो रहे हैं। इनकी खरीद के लिए हर स्तर पर तुरंत स्वीकृति जारी की जा रही है। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रभारी अधिकारी शीघ्रता से ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर की डिलीवरी लेने पर फोकस करें। आर्य ने बताया कि केन्द्र सरकार से भी शीघ्र ही राज्य का ऑक्सीजन कोटा बढ़ने की उम्मीद है। केन्द्रीय गृह सचिव ने जामनगर से अतिरिक्त ऑक्सीजन आवंटन एवं टैंकर्स देने के लिए आश्वस्त किया है। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका ने बताया कि राज्य सरकार ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर की खरीद के लिए तेजी से कार्यादेश जारी कर रही है। साथ ही जामनगर से ट्रेन से ऑक्सीजन परिवहन के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। दरीबा में 12 हजार ऑक्सीजन सिलेंडर क्षमता का प्लांट 7 मई तक चालू होने की संभावना है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned