डॉ. किरोड़ी मीणा की सभा में मंच पर गए अफसरों को कारण बताओ नोटिस

21 अक्टूबर सोमवार को जमवारामगढ़ मेंं रामगढ़ बांध में चंबल व यमुना नदी का पानी लाने तथा बहाव क्षेत्र में बने प्रभावी लोगों के तथाकथित अतिक्रमण हटाने के लिए किए जा रहे राजनैतिक प्रकृति के आंदोलन में मंच से संवाद करने एवं राजनेताओं के प्रश्नों पर टिप्पणी करने को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने दो अफसरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने जमवारामगढ़ के उपखंड अधिकारी विश्वामित्र मीणा और जयपुर विकास प्राधिकरण के उपायुक्तलोकेश गौतम की कार्रवाई को अनुशासनहीनता मानते हुए उनसे व्यक्तिश: उपस्थित होकर जवाब तलब किया है।
सभा में माइक पर दिए थे जवाब
यादव ने जारी नोटिस में कहा है कि इस आंदोलन का नेतृत्व राज्यसभा के सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने किया था। इसमें कई सांसद व विधायक उपस्थित रहे। उपखंड अधिकारी मीणा एवं उपायुक्त जेडीए गौतम को डॉ. किरोड़ी मीणा की ओर से मंच पर बुलाए जाने पर दोनों अधिकारियों ने उनके प्रश्नों का मंच पर उपस्थित होकर माइक के जरिए जवाब दिया और संवाद किया।
सिर्फ ज्ञापन लेना चाहिए था
यादव ने कहा कि इन दोनों अधिकारियों को आंदोलनकर्ता से ज्ञापन ही लेना चाहिए था। अधिकारियों का यह कृत्य राजस्थान सेवा नियमों के विपरीत एवं अनुशासनहीनता का परिचायक है। अत: इनको कारण बताओ नोटिस जारी कर सात दिवस में अपना जवाब स्वयं उपस्थित होकर प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया गया है।

chandra shekar pareek
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned