राजस्व वादों की सुनवाई के लिए अधिकारियों के नए क्षेत्राधिकार तय

राजस्व वादों की सुनवाई के लिए अधिकारियों के नए क्षेत्राधिकार तय
District collector

Firoz Khan Shaifi | Updated: 20 Sep 2019, 05:53:53 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर जिले के राजस्व अदालतों में वादों की सुनवाई के लिए राजस्व अधिकारियों के मौजूदा क्षेत्राधिकारों में बदलाव करते हुए नए क्षेत्राधिकार तय किए गए हैं। इस संबंध में जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने आदेश जारी किए हैं।

जयपुर। जयपुर जिले के राजस्व अदालतों में वादों की सुनवाई के लिए राजस्व अधिकारियों के मौजूदा क्षेत्राधिकारों में बदलाव करते हुए नए क्षेत्राधिकार तय किए गए हैं। इस संबंध में जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने आदेश जारी किए हैं।

आदेशों के मुताबिक जयपुर जिले के 28 राजस्व अधिकारियों के नए क्षेत्राधिकार के तहत भू-अभिलेख वृत एवं तहसील का निर्धारण करते हुए सभी अधिकारियों को आवंटित क्षेत्र के अनुसार ही नये प्रकरणों को संबंधित न्यायालय में सुनवाई के लिए स्वीकार करने के निर्देश दिए गए हैं।

इसके साथ ही जिन न्यायालयों के भू-अभिलेख वृतों में परिवर्तन हुआ है, इस बारे में संबंधित न्यायालय को विचाराधीन प्रकरणों का आपस में स्थानान्तरण सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए गए हैं। बाकी अदालतें पहले की तरह की काम करेंगी।


जिला कलेक्टर ने बताया कि नामांतरकरण की अपील एवं 136 एलआर एक्ट के प्रार्थना पत्रों की सुनवाई एवं निस्तारण संबंधित उपखण्ड अधिकारी के द्वारा किया जाएगा। ऎसे राजस्व वाद जो काश्तकारी अधिनियम-1995 की धारा 235 के तहत जिला कलक्टर के निर्णय के अनुसार दूसरे न्यायालय को सुनवाई के लिए स्थानान्तरित किए गए है, वे यथावत सुने जाएंगे। ये आदेश प्रसारण की तिथि से तत्काल प्रभाव से प्रभावी हो गए हैं।


जिला कलेक्टर जगरूप सिंह यादव ने बताया कि उपखण्ड अधिकारी, जयपुर-प्रथम के लिए भू-अभिलेख वृत जयपुर पश्चिम, बस्सी सीतारामपुरा व झोटवाड़ा का नया क्षेत्र निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार उपखण्ड अधिकारी, सांगानेर-जयपुर के लिए भू-अभिलेख वृत सांगानेर, शिकारपुरा, वाटिका व मुहाना , उपखण्ड अधिकारी, आमेर के लिए भू-अभिलेख वृत आमेर व बगवाड़ा उपखण्ड अधिकारी, शहर-दक्षिण के लिए भू-अभिलेख वृत भांकरोटा व गोनेर हरमाड़ा व जाहोता उपखण्ड अधिकारी, शहर-उत्तर के लिए भू-अभिलेख वृत मुण्डियारामसर व जयपुर पूर्व (तहसील जयपुर), उपखण्ड अधिकारी, बस्सी के लिए भू-अभिलेख वृत कानोता, बस्सी, जटवाडा व टहटडा (तहसील बस्सी), उपखण्ड अधिकारी, चाकसू के लिए भू-अभिलेख वृत छान्देल कलां, निमोडिया, काठावाला, शिवदासपुरा, तितरिया, टूटोली, कादेडा, तामडिया है।

इसके अलावा कोथून व चाकसू (तहसील चाकसू) तथा रूपाहेडी कलां, कोटखावदा , गरूडवासी, ठीकरियां गुजरान व देहलाला (तहसील कोटखावदा), उपखण्ड अधिकारी, शाहपुरा के लिए शाहपुरा, रामपुरा, कांट व खोरालाडखानी (तहसील शाहपुरा), उपखण्ड अधिकारी, विराटनगर के लिए विराटनगर, बीलवाड़ी, पालडी, मैड़, आंतेला व भाबरू (तहसील विराटनगर), उपखण्ड अधिकारी, फागी के लिए फागी, रेनवाल, निमेडा, डाबिच व चितौडा (तहसील फागी) तथा उपखण्ड अधिकारी, दूदू के लिए मरवा, साली, पडासोली, गैजी, दूदू, हरसोली व रहलाना (तहसील दूदू) का क्षेत्राधिकार निर्धारित किया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned