OMG...कमरे में खोल लिया रिजर्व बैंक, खुद ही छाप रहे थे नोट और चला रहे थे बाजार में

एक कमरा किराए पर लेकर कम्प्यूटर स्कैनर से नोट स्कैन कर छापे थे। जिसे जयपुर के आसपास के इलाके में खपाने की योजना थी

जयपुर एसओजी टीम ने बस्सी में जाली नोट छापने और तस्करी का प्रयास करने वाले तीन को गिरफ्तार किया है। इसमें एक बाल अपचारी भी शामिल है। एसओजी ने आरोपियों के पास से तीन लाख 28 हजार रुपए नकली नोट और नोट छापने का प्रिंटर भी जब्त किया है।

एसओजी एडीजी अनिल पालीवाल ने बताया कि बैनाड़ा रोड श्रीजी स्टैंड आने जाने वाले वाहन और व्यक्तियों की निगरानी रखी हुई थी। दो लड़के एक बाइक पर और एक लड़का एक बाइक से आए और संदेह होने पर एसओजी की टीम ने उनकी घेराबंदी की। पूछताछ में बाइक सवार दो युवकों में से सरदार गुर्जर बैनाड़ा नदी के पास सुरेंद्र गुर्जर मानोता के अरवाड़ी निवासी सुरेंद्र गुर्जर और एक नाबालिग किशोर था।


एसओजी ने उनकी तलाशी ली तो सरदार के पास सफेद कागज में लिपटे हुए 100 और 200 के रुपए के नोटों के कुल 14 बंडल मिले। इनमें 200 रुपए के ८९८ नोट और 100 रुपए 287 नोट मिले। जो कुल राशि के दो लाख आठ हजार तीन सौ रुपए हुई। इसके अलावा सुरेंद्र के पास 20 हजार रुपए मिले। नाबालिग किशोर के पास भी एक लाख रुपए के जाली नोट बरामद किए।


पूछताछ में बताया कि बस्सी के जगन्नाथपुरी में सरदार सिंह अरावली कॉलेज के पास एक कमरा किराए पर लेकर कम्प्यूटर स्कैनर से नोट स्कैन कर छापे थे। जिसे जयपुर के आसपास के इलाके में खपाने की योजना थी। सरदार सिंह से पूछताछ के बाद कम्प्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर नोट छापने का उपयोग किए जाने वाले कागज बरामद किए। आरोपियों से शामिल अन्य लोगों के बारे में और पहले कहां पर नकली नोट छापकर खपाए है उसकी जांच की जा रही है।

Dinesh Gautam Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned