विश्व रक्तदाता दिवस: देखिए किस तरह रक्तदान के माध्यम से दूसरों की जिंदगी बचाने में जुटे ये लोग

Priyanka Yadav

Publish: Jun, 14 2018 04:28:18 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
विश्व रक्तदाता दिवस: देखिए किस तरह रक्तदान के माध्यम से दूसरों की जिंदगी बचाने में जुटे ये लोग

इनकी कहानी सुनकर वो आपको भी समझ आ जाएगा ये शख्स क्षेत्र में काम करने के साथ लगातार रक्तदान कर लोगों की जिंदगी बचाने की मुहीम में जुटे हैं।

जयपुर. सेवा का भाव क्या होता है, इनकी कहानी सुनकर वो आपको भी समझ में आ जाएगा। ये एक ऐसे शख्स हैं, जो सरकारी क्षेत्र में काम करने के साथ लगातार रक्तदान कर लोगों की जिंदगी बचाने की मुहीम में जुटे हैं।

पीएफ विभाग में कार्यरत 42 साल के अरविन्द कुमार अपने जीवन में 40 से अधिक बार रक्तदान कर चुके हैं। इतना ही नहीं करीब 200 से भी अधिक बार रक्तदान शिविरों का आयोजन भी करवा चुके हैं।

अरविन्द 24 सालों से लगातार रक्तदान की इस मुहीम को आगे बढ़ा रहे हैं। वे नागरिक सुरक्षा, स्काउटिंग, रेडक्रॉस आदि संगठनों से जुड़े हैं।

दूसरों के लिए जीएं जीवन

अरविन्द ने बताया कि वे खुद के लिए जीने से ज्यादा दूसरों के लिए जीने को महत्व देते हैं। रक्तदान के साथ ही वर्ष में 10-12 बार शिविर लगवाते हैं। रक्तदान और रक्तदान शिविरों के आयोजन के लिए उन्हें कई बार सम्मानित किया जा चुका है।

 

Jaipur News

अपने रक्त की हर बूंद को किसी जरूरतमंद गंभीर मरीज की जान बचाने का प्रण कर रखा है सुशील मंत्री ने। जयपुर के 42 वर्षीय सुशील 2005 से अब तक 31 बार रक्तदान कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि रक्तदान के बीच तीन माह का अंतराल होना चाहिए लेकिन इससे पहले भी कॉल आए तो डोनर कार्ड जरूरतमंद को उपलब्ध करवाते हैं। उनका मानना है कि उनका दिया हुआ रक्त किसी ना किसी तरीके से जरूरत मंद के काम आ जाए, यही उनकी इच्छा रहती है।

 

जन्मदिन पर दिलाते संकल्प

अपने रक्त की हर बूंद को किसी जरूरतमंद गंभीर मरीज की जान बचाने का प्रण कर रखा है सुशील मंत्री ने। जयपुर के 42 वर्षीय सुशील 2005 से अब तक 31 बार रक्तदान कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि रक्तदान के बीच तीन माह का अंतराल होना चाहिए लेकिन इससे पहले भी कॉल आए तो डोनर कार्ड जरूरतमंद को उपलब्ध करवाते हैं। उनका मानना है कि उनका दिया हुआ रक्त किसी ना किसी तरीके से जरूरत मंद के काम आ जाए, यही उनकी इच्छा रहती है।

Jaipur News

चिकित्सक से मिली रक्तदान करने सलाह के बाद रामवतार तोषनीवाल (57) का जीवन ही बदल गया। उन्होंने 1981 में पहली बार रक्तदान किया। इसके बाद तो मानो उनके जीवन को एक उद्देश्य मिल गया। 2016 तक तोषनीवाल 77 बार रक्तदान कर चुके है।

कई बार उन्होंने एक साल में चार बार भी रक्तदान किया। 27 वर्षीय बेटा विराग भी अब तक 7 बार रक्तदान कर चुका है। टोंक रोड, देव नगर निवासी रामवतार रक्तदान के साथ-साथ लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करते हैं। वे 1995 से स्वास्थ्य कल्याण ब्लड बैंक से कैंप कन्वीनर के तौर पर जुड़े। उनका मानना है कि जब भी रक्तदान करता हूं मन को तसल्ली मिलती है कि एक तो नेक काम किया।

 

आधी रात को दिया रक्त

आसपास के इलाके में सब उन्हें रक्तदाता के रूप में जानते है। जो भी रक्त के लिए मदद मांगने आया, आधी रात को भी उठकर उसके साथ चले गए और मदद की।

Jaipur News

बगडिय़ा भवन, सी स्कीम निवासी 36 वर्षीय पंकज अग्रवाल पांच सालों में 122 बार सिंगल डोनर प्लेटलेट (एसडीपी) दान कर चुके हैं। पंकज को यह प्रेरणा मिली रिश्तेदार को एसपीडी की जरूरत पडऩे पर। जब एसडीपी प्राप्त करने में कठिनाइयां उन्होंने झेली तो इसके दान की मुहिम से जुडऩे का उन्होंने निर्णय कर लिया। इसी का नतीजा है कि पांच साल में अप्रत्याशित तौर पर इतनी बार एसडीपी डोनेट कर चुके हैं। कंप्लीट रक्त का दान तीन महीने में एक बार किया जा सकता है, लेकिन एसडीपी का दान 72 घंटे में एक बार हो सकता है।

 

फोन करते ही उपलब्ध

पंकज का रक्त समूह बी पॉजीटिव है और वे बी पॉजीटिव की तरह ही कार्य कर रहे हैं। पंकज ने बताया कि वे एनजीओ के जरिये इस मुहिम से जुड़े हुए हैं। इस मुहिम में उनके कुछ दोस्त भी साथ दे रहे हैं।

Jaipur News

मानव शरीर में ब्लड महत्वपूर्ण है। एक यूनिट रक्त चार लोगों की जिन्दगी बचा सकता है यह विचार विश्व रक्तदान दिवस पर बुधवार को महात्मा गांधी अस्पताल के ब्लड बैंक के सहायक प्रभारी डॉ. आर.एम. जायसवाल ने स्वास्थ्य जागरुकता कार्यक्रम में व्यक्त किए। व्यक्त किए।

डॉ. जायसवाल ने कहा कि रक्त किसी फैक्ट्री अथवा कम्पनी में निर्मित नहीं होता। रक्तदान कर मानव ही पीडि़त मानवता की सच्ची सेवा कर सकता है। इस अवसर पर डॉ. श्वेता शर्मा, महात्मा गांधी अस्पताल के अतिरिक्त अधीक्षक डॉ. आर.सी. गुप्ता ने अपने छात्र जीवन के संस्मरण सुनाए।

Jaipur News

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned