मछली पालन व्यवसाय में निवेश के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार

आरोपी को दिल्ली से किया प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार

By: Lalit Tiwari

Published: 06 Oct 2021, 06:46 PM IST

जालूपुरा थाना पुलिस ने मछली पालन व्यवसाय करने वाली एक कंपनी में रुपए निवेश करवाकर भारी मुनाफा लौटाने का आश्वासन देकर 45 लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया हैं। पुलिस ने इस मामले में कंपनी के डायरेक्टर को दिल्ली से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया है।
थानाप्रभारी रामसिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी राजीव आचार्य (45) बीकानेर में वार्ड नंबर 12, जोशीवाड़ा के रहने वाले है। जयपुर में खोली गई राइट टू रुट कंपनी के डायरेक्टर है। इस संबंध में धनखड़ रेजीडेंसी, अग्रसेन सर्किल के पास रहने वाली सुनीता ने थाने में मामला दर्ज करवाया। जिसमें बताया कि वर्ष 2019 में झुंझुनूं के रहने वाले उनके परिचित वीरेंद्र अग्रवाल ने सुनीता से संपर्क किया था। वीरेंद्र ने अपने सभी साथियों को मिलवाते हुए कहा कि उसने मछली पालन व्यवसाय के लिए रुट टू राइट नाम की एक कंपनी बनाई है। इसका ऑफिस एमआई रोड जयपुर में स्थित गणपति प्लाजा में चौथी मंजिल पर खोला है। इस कंपनी में लोगों के रुपए निवेश करवाते है। इससे मछली पालन व्यवसाय में मुनाफा होने कमाकर रकम निवेश करने वालों को दुगने से ज्यादा सिर्फ 10 महीने में लौटा देंगे। तब आरोपियों की बातों में आकर सुनीता ने 45 लाख रुपए आरोपियों के निजी और कंपनी के खाते में जमा करवा दिए।

ना मुनाफा मिला और ना ही जमा करवाई रकम-
पुलिस ने बताया कि सुनीता ने आरोप लगाया कि 10 माह बीत जाने के बाद भी उनको निवेश की गई ना तो रकम लौटाई गई, नाहीं कोई मुनाफा दिया गया। तब सुनीता ने गणपति प्लाजा में रुट टू राइट कंपनी के ऑफिस पहुंचकर पदाधिकारियों से पैसे मांगे तो उन्होंने दिसंबर 2019 में पैसों के बारे में संपर्क करने को कहा। इसके बाद 15 दिसंबर 2019 को आरोपी संजीव विश्नोई ने परिवादिया सुनीता से संपर्क कर कहा कि अगले एक महीने में तुम्हारे पैसे नकद लौटा दूंगा या बैंक में ट्रांसफर कर दूंगा। पैसा नहीं लौटाने पर 7 फरवरी 2020 को जालूपुरा थाने में कोर्ट इस्तगासे के जरिए एफआईआर दर्ज करवाई गई। जिसमें अब पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कंपनी के डायरेक्टर राजीव आचार्य को कल गिरफ्तार कर लिया। करीब तीन महीने पहले पुलिस ने आरोपी वीरेंद्र मोहन अग्रवाल (44) निवासी सदर, झुंझुनूं और हनुमानगढ़ टाउन निवासी जसवीर सिंह बरार (37) को भी गिरफ्तार किया था।

Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned