#Padmavati : फिल्म को लेकर हो रहा विवाद दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है, कहां किसने क्या दिए बयान?

Vijay ram

Publish: Nov, 15 2017 05:40:50 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India

पद्मावती लगातार कॉन्ट्रोवर्सी में बनी हुई है। ऐसे में फिल्म का विरोध करने वाले और सपोर्ट करने वालों के एक से एक तीखे बयान सामने आ रहे हैं। जहां राजपूत संगठन मूवी को अपमान के तौर पर देख रहे हैं तो वहीं फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोग तारीफ कर रहे हैं। देखें, चल क्या रहा है...

1/5

जयपुर/मुंबई. डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' लगातार कॉन्ट्रोवर्सी में बनी हुई है। ऐसे में फिल्म का विरोध करने वाले और सपोर्ट करने वालों के एक से एक तीखे बयान सामने आ रहे हैं। जहां कुछ राजपूत संगठन मूवी को अपमान के तौर पर देख रहे हैं तो वहीं फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोग भंसाली की तारीफ कर रहे हैं।

 

कॉन्ट्रोवर्सी पर शाहिद बोले-'कोई अनुमान लगाने से पहले फिल्म देख लें'
फिल्म में राजा रावल रतन सिंह का कैरेक्टर प्ले कर रहे शाहिद कपूर ने विरोध जताने वाली पार्टीज से अपील की है। शाहिद का कहना है कि फिल्म 'पद्मावती' को बिना देखे इसका विरोध नहीं करना चाहिए। उन्हें फिल्म को एक चांस देना चाहिए। जिस दिन राजपूत समाज ने कई शहरों में फिल्म का विरोध करने के लिए रैलियां निकाली थी उसी दिन शाहिद ने ये अपील की है। शाहिद का कहना है कि वो और उनकी पूरी टीम इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार कर रही हैं। 1 दिसम्बर को रिलीज हो रही इस फिल्म का हिस्सा होने पर शाहिद काफी गर्व महसूस कर रहे हैं।

 

पद्मावती की रिलीज कोई नहीं रोक सकता, इस किरदार पर फख्र: दीपिका
फिल्म में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावती का कैरेक्टर प्ले किया है और रणवीर सिंह ने अलाउद्दीन खिलजी का। पादुकोण ने कहा कि इसे रिलीज होने से कोई भी चीज नहीं रोक सकती। उन्होंने कहा- "हम सिर्फ सेंसर बोर्ड के लिए जवाबदेह हैं। इसका विरोध डराने वाला है। मुझे विश्वास है कि यह एक बड़ी लड़ाई जीतेगी।

 

सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया जवाब: हमें लेक्चर दे रही हैं
बीजेपी लीडर सुब्रमण्यम ने कहा है कि सिने एक्ट्रेस दीपिका हमें रिग्रेशन (पुन:पतन/पीछे लौटना) पर लेक्चर दे रही हैं। देश केवल तभी तरक्की कर सकता है, जब उनके (दीपिका) के नजरिए से रिग्रेशन हो रहा हो।"

 

करणी सेना के प्रदेशाध्यक्ष अजीत सिंह मामडोली ने कहा, ''भंसाली को जयपुर में हुआ उनका विरोध याद नहीं रहा, इसलिए बार-बार राष्ट्रव्यापी पाठ पढ़ाया जाएगा। यदि ये फिल्म प्रदर्शित की जाती है तो देश सुलग उठेगा। जिन पद्मावती ने मान सम्मान और स्वाभिमान के लिए 16 हजार सभी धर्म व समाजों की वीरांगाओं के साथ जौहर किया, उनके इस बलिदान को किसी भी सूरत में धूमिल नहीं होने देंगे...''

 

फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?
बता दें कि राजपूत कम्युनिटी और करणी सेना ने फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूतों का मानना है कि इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए। ऐसा करने से रिलीज के वक्त फिल्म के लिए सहूलियत रहेगी और तनाव के हालात से बचा जा सकेगा।

 

पिछले दिनों राजपूत कम्युनिटी, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और करणी सेना ने गुजरात, राजस्थान और महाराष्ट्र में प्रदर्शन किए। इनकी मांग है कि रिलीज होने से पहले उन्हें इसे दिखाया जाना चाहिए। अब राजस्थान के राजघराने भी विरोध में उतर आए हैं। कई मंत्रियों के भी बयान आ चुके हैं। Next Slides में देखें...

 

Read News: पद्मावती रिलीज हुई तो परिणाम घातक होंगे: करणी सेना; ऐसी फिल्मों से क्या दिखाना चाहते हैं भंसाली- मुस्लिम बोले

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned