scriptPanchayati Raj Election Bjp Rajasthan Satish Poonia Vasundhara Raje | वसुंधरा के गढ़ धौलपुर में हारी भाजपा, क्या गुटबाजी ने डुबोई नैया... | Patrika News

वसुंधरा के गढ़ धौलपुर में हारी भाजपा, क्या गुटबाजी ने डुबोई नैया...

जिला परिषद और पंचायत चुनाव के नतीजों से एक बार फिर भाजपा को मायूसी हाथ लगी है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के गढ़ में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है। इस हार के पीछे भाजपा में चल रही आपसी गुटबाजी को वजह माना जा रहा है।

जयपुर

Published: October 29, 2021 08:51:23 pm

जयपुर।

जिला परिषद और पंचायत चुनाव के नतीजों से एक बार फिर भाजपा को मायूसी हाथ लगी है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के गढ़ में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है। इस हार के पीछे भाजपा में चल रही आपसी गुटबाजी को वजह माना जा रहा है।
वसुंधरा के गढ़ धौलपुर में हारी भाजपा, क्या गुटबाजी ने डुबोई नैया...
वसुंधरा के गढ़ धौलपुर में हारी भाजपा, क्या गुटबाजी ने डुबोई नैया...
भाजपा में गुटबाजी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उप चुनाव वाली सीटों पर भी राजे सहित कई नेता प्रचार करने नहीं पहुंचे। यही नहीं उनके गुट के नेता भी प्रचार से दूर ही नजर आए। ऐसे में प्रभारी अरुण सिंह को खुद कमान संभालनी पड़ी। पूनियां भी दोनों उप चुनाव वाली सीटों पर सक्रिय नजर आए।
नतीजों में हाल-ए-धौलपुर

धौलपुर के नतीजों पर नजर डालें तो यहां जिला परिषद के 23 वार्डों में से कांग्रेस को 17 सीटें मिली है, जबकि बीजेपी ने महज 6 सीटें ही हासिल की है। ऐसे में अब धौलपुर का जिला प्रमुख कांग्रेस का बनेगा। वहीं पंचायत चुनाव में बाड़ी, धौलपुर, राजाखेड़ा में कांग्रेस, सैपऊ पंचायत समिति में भाजपा और बसेड़ी व सरमथुरा पंचायत समिति में निर्दलीय प्रत्याशियों ने कांग्रेस और भाजपा दोनों का ही गणित बिगाड़ दिया है।
अलवर में भी कांग्रेस आगे

अलवर जिला प्रमुख चुनाव में भी कांग्रेस के 49 में से 25 पार्षद कांग्रेस के जीते हैं। बीजेपी के 20 पार्षद जीते, जबकि 4 निर्दलीय जीतकर आए हैं। ऐसे में अलवर में भी कांग्रेस को जिला प्रमुख चुनाव बनाने के लायक बहुमत मिल गया है। वहीं अलवर जिले में कुल 352 में सबसे ज्यादा 134 वार्डों में कांग्रेस जीती है। भाजपा को 119 व 98 वार्डों में निर्दलीय को जीत मिली है। 16 में से केवल 5 पंचायत समिति ऐसी हैं, जहां पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिले हैं। इसमें 4 जगह कांग्रेस और एक जगह भाजपा को बहुमत मिला है। शेष 11 स्थानों पर निर्दलियों के जोड़-तोड़ से प्रधान की कुर्सी मिलेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022: भाजपा ने किसानों से झूठा वादा किया, उन्हें धोखा दिया, प्रेस कांफ्रेंस में बोले अखिलेशदिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू खत्म, आज से नई गाइडलाइंस के साथ मेट्रो सेवाएं शुरूउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव 2022 की डेट का ऐलान, जानें कितने सीटों के लिए और कब आएगा रिजल्टमुस्लिम वोटों को लुभाने के लिए बसपा ने किया बड़ा खेल, बाकी हैरानरेलवे भर्ती 2022: रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, इन पदों पर सीधे इंटरव्यू के जरिए हो रही भर्तीखतरनाक साइड इफैक्ट : इलाज के बाद ठीक हुए मरीजों पर आइआइटी का शोध, खराब हो रहे ये अंगओमिक्रॉन के नए वैरिएंट की एंट्री, मरीजों के सैंपल भेजे दिल्ली, 1418 पुलिसवाले भी संक्रमितछत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर, 48 घंटे में 30 मरीजों की मौत, सबसे ज्यादा 8 संक्रमितों की मौत दुर्ग में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.