Panther : गांव में घुसा पेंथर, तीन गंभीर घायल

Panther : जयपुर . Panther ने आज सुबह करीब दस बजे Amer Tehsil के रूंडल Village में हमला कर दिया। हमले में करीब एक दर्जन लोगों को पेंथर ने अपना Injured बनाया। किसी के हाथ में पेंथर के काटने के निशान है तो किसी के पेर पर। तीन लोगों को गंभीर स्थिति में यहां Sawai Mansingh Hospital के Troma में उपचार के लिए लाया गया। इनमें से भी दो की हालत ज्यादा नाजुक बताई जा रही है।

By: Anil Chauchan

Updated: 24 Feb 2020, 02:58 PM IST

Panther : जयपुर . पेंथर ( Panther ) ने आज सुबह करीब दस बजे आमेर तहसील ( Amer Tehsil ) के रूंडल गांव ( Village ) में हमला कर दिया। हमले में करीब एक दर्जन लोगों को पेंथर ने अपना शिकार ( Injured ) बनाया। किसी के हाथ में पेंथर के काटने के निशान है तो किसी के पेर पर। तीन लोगों को गंभीर स्थिति में यहां सवाई मानसिंह अस्पताल ( Sawai Mansingh Hospital ) के ट्रोमा ( Troma ) में उपचार के लिए लाया गया। इनमें से भी दो की हालत ज्यादा नाजुक बताई जा रही है।


आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से क्षेत्र में पेंथर का आतंक था। क्षेत्र के लोगों ने इसकी शिकायत कई बार वन विभग की टीम को भी की थी। आज सुबह करीब 9:30 बजे पेंथर गांव के खेतों में घुस आया और छुप कर बैठ गया। गांव के लोग जब सुबह खेत में काम करने निकले तो पेंथर ने कुछ लोगों पर हमला कर दिया। ऐसे में आमेर तहसील के रूंडला गांव के लोगों में अफरा-तफरी मच गई। पेंथर ने करीब 12 लोगों को चोट पहुंचाई।


तीन घायलों को रूंडल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से एसएमएस हॉस्पिटल जयपुर के लिए किया रेफर किया गया। एसएमएस के ट्रोमा सेंटर में तीनों मरीजों का उपचार चल रहा है। तीन में से दो घायल दीपक यादव व राजू यादव को पेंथर ने ज्यादा काट खाया। ऐसे में उनकी तबीयत काफी चिंता जनक हो गई है। दोनों घायलों के शरीर से खून नहीं रूक रहा है। अस्पताल के डॉक्टर व अन्य स्टाफ उनके उपचार में जुटे हुए हैं।


रूंडल गांव में बघेरा आने से गांव में अफरा-तपरी मची हुई है। गांव के लोग अपने-अपने घरों को बंद करके बैठे हैं। बच्चों को भी बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। उधर पेंथर के आने की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने पेंथर की तलाश की लेकिन उन्हें वह नहीं मिला। पेंथर को लेकर क्षेत्र में अभी सर्च अभियान जारी है।


वन विभाग की टीम जब तक क्षेत्र में पेंथर को नहीं पकड़ेगी तब तक क्षेत्र में दहसत का माहौल बना रहेगा। वन विभाग की टीम में शामिल कर्मचारियों का कहना है कि खाने की तलाश में पेंटर गांवों में घुस आता है। अगर वह कुछ दिन तक दिखाई नहीं दिया तो यही माना जाएगा कि पेंथर अब क्षेत्र से चला गया है। उधर क्षेत्र के लोगों का कहना है कि पिछले महीने में यहां पर पेंथर कई बार दिखाई दिया। इस संबंध में समय -समय पर वन विभाग की टीम को सूचित भी किया जाता रहा है।


आज सुबह क्षेत्र में कुछ लोगों पर पेंथर का हमला होने से काफी अफरा तफरी मच गई। लोगों का कहना है कि पेंथर जब तक पकड़ा नहीं जाएगा तब तक वे राहत की सांस नहीं ले सकते हैं।

Show More
Anil Chauchan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned