पपीते की पत्तियों से बने जूस से मिलेंगे कई फायदे

पपीते की पत्तियों में औषधीय गुण होते हैं, जो बीमारियों से लडऩे के साथ ही रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं-

By: Archana Kumawat

Published: 19 Mar 2020, 12:56 PM IST

डेंगू और मलेरिया फीवर में : ताजा पपीते की पत्तियों में पपेन और कारोकेन होता है, जो प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाकर डेंगू फीवर के इंफेक्शन को कम करने का काम करते हैं। फीवर को दूर करने के लिए २५ एमएल पपीते की पत्तियों के जूस में पानी मिलाकर दिन में दो बार लें। इसी तरह पपीते की पत्तियों के एक्सट्रेक्ट से मलेरिया का प्रभावी तरीके से उपचार किया जा सकता है। यह मलेरिया के फीवर को कंट्रोल करने में लाभकारी है।

पाचन के लिए लाभकारी : पपीते की पत्तियों का जूस पाचनतंत्र को भी सुचारू करने का काम करता है। इसके सेवन से ब्लोटिंग, हार्टबर्न, कब्ज आदि समस्याओं को दूर किया जा सकता है। इसलिए यदि आप पेट की समस्याओं से परेशान हैं तो पपीते की पत्तियों का जूस अवश्य पिएं।

लिवर के लिए फायदेमंद : यह जूस ब्लड में से कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करने का काम करता है। इससे लिवर को फ्री रेडिकल्स से बचाने में भी मदद मिलती है। इस तरह पपीते की पत्तियों का जूस पीने से लिवर संबंधी इंफ्लेमेटरी डिजीज का खतरा कम हो जाता है।

त्वचा के लिए अच्छा है यह जूस : इस जूस के सेवन से त्वचा संबंधी समस्याओं को भी दूर किया जा सकता है। पपीते की पत्तियां दाग-धब्बों, झाइंयों, पिंपल्स आदि को दूर करने का काम करती हैं। इसके अलावा बालों के स्वास्थ्य के लिए भी पपीते को लाभकारी माना जाता है। यह जूस डेंड्रफ और हेयर फॉल की समस्या से राहत देगा। इस जूस को सिर की त्वचा पर भी लगाया जा सकता है।

कैंसररोधी गुण : यदि आप पपीते की पत्तियों से बने जूस का नियमित सेवन नहीं कर सकते हैं तो उसकी चाय भी ली जा सकती है। दरअसल, इसकी पत्तियों में एंटी कैंसर प्रोपर्टीज होती हैं। इस संबंध में कुछ अध्ययनों से भी सामने आया कि पपीते की पत्तियां शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाकर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम करती हैं। इस तरह कैंसर की आशंका कम हो जाती है। साथ ही ट्यूमर की ग्रोथ को भी रोकने का काम करती है।

Archana Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned