परीक्षा से पहले पेपर का सौदा, ₹7 लाख रखी कीमत

परीक्षा से पहले पेपर का सौदा, ₹7 लाख रखी कीमत

neha soni | Publish: Mar, 04 2019 02:31:35 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

कृषि पर्यवेक्षक परीक्षा का मामला : आरोपियों से 5.48 लाख रुपए बरामद

7 को किया गिरफ्तार

जयपुर।
कृषि पर्यवेक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी करने का मामला सामने आया है। एटीएस, एसओजी और करधनी थाना पुलिस की संयुक्त टीम ने कालवाड़ अम्बानगर स्थित एक मकान से ऐसे 7 लोगों को गिरफ्तार किया है, जो परीक्षा से पहले ही पेपर दिलाने का झांसा देकर अभ्यर्थियों से 7-7 लाख रुपए ऐंठने में जुटे थे। उनसे 5.48 लाख रुपए बरामद हुए हैं। उनसे मिले साक्ष्यों से लगता है कि यह गिरोह करीब 30 अभ्यर्थियों से सौदा कर चुका था।
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से रविवार को जयपुर व कोटा में उक्त परीक्षा हुई है। इससे पहले शनिवार देर रात गिरोह को पकडकऱ 5 लाख रुपए, कई चेक व दस्तावेज बरामद किए। एसओजी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक करन शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में किशनगढ़ रेनवाल निवासी सुरेन्द्र चौधरी (25), शाहपुरा निठारा निवासी रामप्रसाद चौपड़ा (41), गोविंदगढ़ रणजीतपुरा निवासी ओमप्रकाश (25), खनीपुरा कालाडेरा निवासी कैलाशचंद यादव (24), गोविंदगढ़ बलेखण निवासी अनिलकुमार (35), रेनवाल रणजीतपुरा निवासी बन्नाराम (34) और काजीपुरा सांभर निवासी सुधीरकुमार चौधरी (24) शामिल हैं। इन्होंने करधनी में करीब 2 साल से मकान किराए पर ले रखे थे। गिरोह लम्बे समय से फर्जीवाड़ा और धोखाधड़ी कर रहा था।

कृषि पर्यवेक्षक के लिए 81 हजार अभ्यर्थियों ने दी परीक्षा
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से रविवार को राज्य में 2 भर्ती परीक्षाएं हुईं। इनमें से अजमेर में महिला पर्यवेक्षक (आंगनबाड़ी), जयपुर व कोटा में कृषि पर्यवेक्षक भर्ती परीक्षा हुई। कृषि पर्यवेक्षक भर्ती परीक्षा-2018 के लिए 1.06 लाख अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जिनमें से 81 हजार ने परीक्षा दी। इनमें से जयपुर में 58 हजार, कोटा में 22 हजार अभ्यर्थी परीक्षा में बैठे। महिला पर्यवेक्षक (आंगनबाड़ी) में 82.19 फीसदी अभ्यर्थी हाजिर हुए। कुल 6890 अभ्यर्थियों ने अजमेर में यह परीक्षा दी। गौरतलब है कि दोनों परीक्षाएं पिछले महीने होने वाली थीं लेकिन गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते स्थगित कर दी गई थीं।

देर रात तक खोजबीन, नहीं मिला कोई पेपर
आरोपियों की निशानदेही पर वैशालीनगर सहित कई ठिकानों पर दबिश दी गई लेकिन उनके पास कोई प्रश्न पत्र नहीं मिला।

तीस से किया सौदा
आरोपियों से 5.48 लाख रुपए, हस्ताक्षरशुदा चेक, खाली स्टाम्प, अभ्यर्थियों के दस्तावेज, ब्लूटूथ डिवाइस, प्रवेश पत्र आदि मिले हैं। आरोपी 30 अभ्यर्थियों से सौदा कर चुके थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned