सड़क पर उतरे अभिभावक,निजी स्कूलों पर मनमानी का आरोप

किया विरोध प्रदर्शन

By: Rakhi Hajela

Updated: 28 Feb 2021, 05:04 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

स्कूल फीस को लेकर अंतरिम आदेश आ चुका है लेकिन अंतिम निर्णय आना बाकी है। इसके बाद भी निजी स्कूल संचालक सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवमानना कर रहे हैं यह कहना है संयुक्त अभिभावक संघ का। संघ और एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन सहित एक्टिव पेरेंट्स एसोसिएशन के पदाधिकारी और अभिभावक रविवार को सांगानेर स्थित स्टेडियम में एकजुट हुए और निजी स्कूलों की हठधर्मिता पर जमकर अपनी भड़ास निकाली। इस दौरान संयुक्त अभिभावक संघ के प्रदेश महामंत्री संजय गोयल, प्रदेश मंत्री अमृता सक्सेना, जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा, एक्टिव पेरेंट्स एसोसिएशन अध्यक्ष मनीष शर्मा, अरविंद शर्मा, विमल व्यास, राम सोनी, एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन संयोजक ज्ञान सिंह नरुका, धर्मेंद्र धनोपिआ, रामकिशन सहित बड़ी संख्या में अभिभावक जुटे।
संघ जयपुर जिला अध्यक्ष युवराज हसीजा ने कहा कि निजी स्कूल संचालक लगातार हठधर्मिता का प्रदर्शन कर रहे हैं, सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम आदेश में स्पष्ट कहा है कि वर्ष 2019-20 के अनुसार निजी स्कूल संचालक 5 मार्च से 6 किश्तों में फीस वसूल सकते हैं। जो अभिभावक फीस जमा नहीं करवा सकते हैं, स्कूल संचालक उनके बच्चों की ना पढ़ाई रोक सकते हैं और ना ही एग्जाम देने से रोक सकते हैं। इसके बाद भी निजी स्कूल संचालक अभिभावकों पर दबाव बना रहे हैं और पूरी फीस जमा ना होने पर बच्चों को एग्जाम देने से रोक रहे हैं।

एन. के पब्लिक स्कूल पेरेंट्स एसोसिएसन संयोजक ज्ञान सिंह नरुका ने कहा कि स्कूल संचालक से लगातार वार्ता कर हम अपनी पीड़ाओं को साझा कर रहे हैं। रविवार को सभी अभिभावकों ने एकजुट होकर स्कूलों की हठधर्मिता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया, जिसे लेकर सभी अभिभावक सांगानेर स्टेडियम में जुटे और संघ के अधिकार पत्र हस्ताक्षर अभियान में भाग लिया। उपस्थित सभी अभिभावकों ने सर्व प्रथम संयुक्त अभिभावक संघ की सम्बद्धता ली और हस्ताक्षर किए। उसके बाद अभिभावकों ने स्कूलों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पेट्रोल पंप, सांगानेर बस स्टैंड सर्किल होते हुए सांगानेर के मुख्य बाजार में रैली निकाली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned