इधर पार्किंग को बनाया गैराज, उधर गाड़ी के लिए नहीं मिल रही जगह

चौगान स्टेडियम की भूमिगत पार्किंग
परकोटा में आने वालों को पार्किंग के लिए करनी पड़ती मशक्कत

By: Amit Pareek

Updated: 01 Dec 2020, 12:00 AM IST

जयपुर. शहर के परकोटा क्षेत्र को जाम से छुटकारा दिलाने और चार पहिया वाहनों की आवाजाही कम करने के लिए निर्मित भूमिगत पार्किंग का ग्राहकों को ज्यादा फायदा नहीं मिल रहा है। आलम यह है कि रामनिवास बाग और चौगान स्टेडियम की भूमिगत पार्किंग को ठेकेदार गैराज के रूप में उपयोग कर रहे हैं। स्थिति यह है कि कई वाहन तो कई महीने बीत जाने के बाद भी नहीं निकलते। वे लोग जो परकोटे में खरीदारी करने आते हैं, उनको वाहन खड़ा करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ऐसेे में करोड़ों खर्च करने के बाद भी शहर के लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। पार्किंग में 24 घंटे वाहन खड़े करने को लेकर खुद नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल सवाल उठा चुके हैं, लेकिन किसी ने कोई ध्यान नहीं दिया।
जानकारी के अनुसार परकोटा में कम से कम वाहन प्रवेश करें, इसके लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है, लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा है। स्थिति यह है कि परकोटे के प्रमुख बाजारों की सड़कों पर वाहन खड़े रहते हैं। इस समय शादियों का सीजन चल रहा था तो भीड़ भी ज्यादा है। ऐसे में लोगों को गाड़ी खड़ी करने के लिए इंतजार करना पड़ता है।

कहां कितनी वाहन क्षमता

रामनिवास बाग भूमिगत पार्किंग
कांग्रेस सरकार के पिछले कार्यकाल में इसकी शुरुआत हुई थी। यहां करीब 915 वाहन खड़े करने क्षमता है। इसमें सरकार ने करीब 50 करोड़ रुपए खर्च किए थे। इस समय 150 से अधिक वाहन मासिक पास और इतने ही वाहन व्यापारियों के रहते हैं। व्यापारियों की गाडिय़ां तो शाम को चली जाती हैं, लेकिन मासिक पास वाली गाडिय़ां बहुत कम पार्किंग से बाहर निकलती हैं।

चौगान स्टेडियम भूमिगत पार्किंग
सितम्बर में इस पार्किंग की शुरुआत हुई थी। 310 कार और 320 दुपाहिया वाहन खड़ा करने की जगह है। यहां पर 100 से अधिक चार पहिया वाहन मासिक पास और 150 से अधिक दुपहिया वाहन ऐसे हैं जो मासिक पास के हैं। यानी ये वाहन बहुत कम पार्किंग से बाहर निकलते हैं।

आगे दो योजनाओं से सुगम होगी पार्किंग
-स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत रामनिवास बाग भूमिगत पार्किंग के विस्तार का काम फरवरी में शुरू होने की संभावना है। जेडीए अधिकारियों की मानें तो यहां पर 1500 वाहन खड़े करने की जगह मिलेगी। 94.45 करोड़ से इस पार्किंग का निर्माण होगा।
-चांदपोल अनाज मंडी में भूमिगत पार्किंग का काम चल रहा है। यहां का काम मार्च में पूरा हो जाएगा। यहां 330 कार खड़ी करने की व्यवस्था रहेगी।

Amit Pareek Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned