स्टेशन पर यात्री हो रहे परेशान, वीवीआईपी कल्चर बना अडंगा

स्टेशन पर यात्री हो रहे परेशान, वीवीआईपी कल्चर बना अडंगा

जयपुर

जनता की सुविधा के लिए किए जा रहे विकास के कामकाजों के उद्घाटन में वीवीआईपी कल्चर अडंगा बन रहा है। इसके चलन से कई बार जनता को परेशान भी होना पड़ता है। वीवीआईपी कल्चर के चक्कर में राजधानी जयपुर के गांधीनगर रेलवे स्टेशन इन दिनों यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए पिछले कई दिनों से प्रतीक्षालय यानि वेटिंग लाउंज बनकर तैयार हैं लेकिन फिर भी यात्रियों को इस गर्मी में ट्रेन आने का इंतजार जमीन पर बैठकर ही करना पड़ रहा है। रेलवे प्रशासन की ओर से किसी वीवीआईपी का इंतजार किया जा रहा है कि वो आए और यात्रियों की सुविधा के लिए बनाए गए वेटिंग लाउंज का उद्घाटन करें।

वीवीआईपी कल्चर का यह हाल तो तब है जबकि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नरेंद्र मोदी की व्यस्तता के कारण ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को तय समय पर खोलने का निर्देश दिया है। यह एक्सप्रेस वे गाजियाबाद को हरियाणा के पलवल से जोड़ेगा। गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर भी कुछ ऐसे ही हालात बने हुए हैं। यहां प्लेटफार्म नंबर एक पर यात्रियों की सुविधा के लिए दो वेटिंग लाउंज बनकर तैयार हैं। एक एसी और दूसरा नॉन एसी वेटिंग लाउंज हैं। करीब 40 लाख रुपए की लागत से इन्हें बनवाया गया है। कई दिन से बनकर तैयार होने के बावजूद इन पर लॉक लगे हुए हैं। रेलवे इनका उद्घाटन करवाने के लिए इंतजार कर रहा है।

लाउंज में 250 यात्रियों की क्षमता
स्टेशन पर बनाए गए एसी वेटिंग लाउंज में 100 यात्रियों जबकि नॉन एसी में 150 यात्रियों के लिए एक साथ बैठने की अच्छी व्यवस्था है ताकि वे आसानी से ट्रेन का इंतजार कर सकें और उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। लेकिन स्टेशन पर इनके उद्घाटन का इंतजार किया जा रहा है।

स्टेशन पर खराब पड़ी मशीन
गांधीनगर स्टेशन पर सुरक्षा कारणों के चलते लगेज की जांच के लिए स्कैनर मशीन लगाई गई थी लेकिन यह मंगलवार को बंद थी। पूछने पर बताया गया कि खराब हो गई है। मशीन के खराब होने से यात्रियों का सामान जांचे बगैर ही उन्हें स्टेशन के अंदर प्रवेश दिया जा रहा है।

Show More
Ashish Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned