अस्पताल में मरीज की मौत, डाक्टर बोले चार लाख का बिल भरो और बॉडी ले जाओ... नहीं तो बाहर निकलो

अस्पताल प्रबंधन का कहना था कि इलाज के दौरान मौत हुई है इस कारण बिल भरना होगा। उधर मृतक के परिजनों का कहना था कि जब इलाज सही तरीके से नहीं हुआ इस कारण मरीज की मौत हो गई। दोनो पक्षों में काफी देर तक विवाद जारी रहा।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 24 Dec 2020, 12:37 PM IST

जयपुर
मरीज #Patient की मौत के बाद अस्पताल #Hospital का बकाया बिल बताते हुए अस्पताल प्रशासन ने शव देने से इंकार कर दिया। वाक्या आज सवेरे जयपुर शहर का है। वैशाली नगर इलाके में स्थित आलीशान अस्पताल में मरीज की मौत के बाद हंगामा शुरु हो गया। सवेरे करीब ग्यारह बजे जब परिजनों ने शव मांगा तो अस्पताल प्रशासन ने उनको बकाया लाखों रुपयों का बिल थमा दिया और कहा इसे चुकाने के बाद ही शव दिया जाएगा।

इस पर हंगामा हो गया और मौके पर वैशाली नगर पुलिस पहुंची। मृतक के परिजनों ने बताया कि सांगानेर कस्बे से मरीज सावत सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ब्रेन से संबधित समस्या होने के बाद उनका इलाज जारी था। पांच से छह लाख रुपए अब तक इलाज में लग चुके थे लेकिन उसके बाद भी मरीज की मौत हो गई। जब शव लेने की तैयारी की तो अस्पताल प्रशासन ने शव देने से इंकार कर दिया। मौके पर अस्पताल प्रशासन और मृतक के परिजनों के बीच कहासुनी भी हुई।

बाद में पुलिस पहुंची। दोपहर तक अस्पताल के बाहर हंगामा जारी रहा। परिजन धरने पर बैठे रहे। अस्पताल प्रबंधन का कहना था कि इलाज के दौरान मौत हुई है इस कारण बिल भरना होगा। उधर मृतक के परिजनों का कहना था कि जब इलाज सही तरीके से नहीं हुआ इस कारण मरीज की मौत हो गई। दोनो पक्षों में काफी देर तक विवाद जारी रहा।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned