scriptPatrika Talk Show At Rajasthan University On Agneepath Scheme | RU: पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथन | Patrika News

RU: पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथन

राजस्थान विश्वविद्यालय में आयोजित हुए पत्रिका टॉक शो में युवाओं ने रखी अपनी बात

जयपुर

Published: June 19, 2022 04:37:58 pm

जयपुर। देश में अग्निपथ पर जमकर बवाल मचा हुआ है। कहीं ट्रेन जल रही है तो कहीं वाहनों के शीशे तोड़े जा रहे हैं। राजनीतिक आरोप—प्रत्यारोप लगाएं जा रहे हैं। युवा सड़कों पर हैं। लेकिन, आखिर ये युवा चाहते क्या हैं और क्यों वे इतना उत्पात कर रहे हैं। इस बात को कोई नहीं जानना चाह रहा। ऐसे में पत्रिका ने राजस्थान विश्वविद्यालय में 'अग्निपथ: मिथ और हकीकत' विषय पर टॉक शो आयोजित किया। जिसमें युवाओं के अलावा सेना के रिटायर्ड अधिकारियों ने भी अपनी बात रखी। करीब डेढ़ घंटे विश्वविद्यालय के स्पोर्ट्स ग्राउंड में चले इस टॉक शो से निष्कर्ष यह निकला कि सरकार को यह बताना चाहिए कि पुरानी भर्तियों को बंद कर इस योजना को लागू करने का फायदा क्या है। साथ ही योजना में बदलावों को लेकर गहन मंथन हो और उसके बाद ही इसे लागू किया जाए।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथन
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथन
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथनटॉक शो में मौजूद रहे छात्रनेता निर्मल चौधरी ने कहा कि अग्निपथ योजना में युवाओं को चार साल के लिए भर्ती किया जाएगा। ये चार साल का समय वो दौर होगा, जब एक युवा पढ़ाई करता है। ऐसे में केवल चार साल नौकरी करवाकर उसे बाहर भेजना, पूरी तरह गलत है। आखिर सरकार ये पुख्ता करें कि चार साल बाद अग्निवीर क्या करेंगे। हकीकत यह है कि वे बेरोजगार हो जाएंगे।
वहीं, पत्रकारिता के छात्र विजय पाल कुड़ी ने इस टॉक शो के लिए पत्रिका को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि 2019 में सेना की आखिरी भर्ती हुई थी। ऐसे में तीन साल तक किसी सरकार ने युवाओं की नहीं सुनी। कुछ दिन पहले भर्ती हुई और जब उन्हें नियुक्ति देने का समय आया तो यह योजना लाकर उन युवाओं के सपनों को सरकार ने चकनाचूर कर दिया। उन्होंने कहा कि आज युवा सड़कों पर अपनी मांगों के लिए उतरे हुए हैं। साथ ही राजनीतिक पार्टियों का उदाहरण देते हुए कहा कि यदि चुनाव जितने के बाद उन्हें निरस्त कर दिया जाए तो राजनेता इस देश में आज हो रहे विवाद से भी बड़ा विवाद खड़ा कर देंगे। साथ ही कहा कि नौकरियों में आरक्षण के झूठे सपने दिखाएं जा रहे हैं। कुड़ी ने कहा कि सरकार को यह करना चाहिए कि हर साल होने वाली नियमित भर्तियां पूर्ववत की जाएं।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथनयुवा संजय चौधरी ने कहा कि एक रिटायर्ड व्यक्ति क्या करेगा, सरकार को यह सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस योजना में कोई दम नहीं हैं। केंद्र सरकार ऐसी योजनाएं लाकर लोगों को सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर कर रही है। पहले कृषि कानून लाए और अब ये नई योजना लाकर लोगों को सड़कों पर आने के लिए मजबूर किया जा रहा है।
युवा सुनील ने टॉक शो में अपनी बात रखते हुए कहा कि 17 से 22 वर्ष एक युवा की वो उम्र होती हैं, जिसमें उसे पढ़ाई करनी होती है। ऐसे में केवल चार साल की नौकरी देकर उसे भविष्य के लिए बेरोजगार बनाना गलत हैं। ऐसे में योजना का समय बढ़ाया जाना चाहिए। साथ ही कहा कि एक्स सर्विसमैन को जो सुविधाएं मिलती हैं वे सभी अग्निवीरों को भी मिलनी चाहिए। सरकार को पिछली भर्तियों के चयनितों को नियुक्ति देनी चाहिए। उन्हें बेरोजगार बनाना तो पूरी तरह गलत है।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथनटॉक शो में पहुंचेे कमल चौधरी बोले कि एक युवा को चार साल के लिए नौकरी पर रखा जाएगा। जिसमें से एक साल ट्रैनिंग और छुट्टियों के निकाल दिए जाएं तो केवल तीन साल में कोई कैसे देश की सेवा कर पाएगा।
वहीं, डॉक्टर हीरालाल ने कहा कि अग्निपथ का मुद्दा बहुत गर्म है। युवाओं को हिंसा नहीं करनी चाहिए। लेकिन, सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि आखिर इस योजना को लाने का वास्तविक मकसद क्या है। सरकार को चाहिए कि वह युवाओं को समझाए। दो दिन में योजना में दो बदलाव करने का मतलब है कि सरकार इस योजना को जल्दबाजी में लेकर आई है।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथनछात्र विकास ने कहा कि सरकार को सबसे पहले यह बताना चाहिए कि आखिर जब पूर्व की योजना चल रही थी तो इस योजना को लागू ही क्यों किया गया। इस योजना के कारण सेना से लौटकर आने वाले एक्स सर्विसमेन का भी सम्मान कम होगा।
युवा विजय पाल ने कहा कि जो अग्निवीर 25 फीसदी में चयनित होकर भारतीय सेना में शामिल नहीं होंगे तो लोग लौटने पर उनका मखौल उड़ाएंगे। अग्निवीरों को गांवों में लोग ताना देंगे कि वे सेना में रहने लायक ही नहीं हैं।
छात्र राहुल महला बोले कि सरकार इस भर्ती में युवाओं के भविष्य को सुरक्षित नहीं कर रही है। 4 साल बाद जब ये अग्निवीर लौटेंगे तो हर साल बेरोजगारों का एक महाकुंभ तैयार होगा। उन्होंने राजस्थान की सीएचए भर्ती का उदाहरण देते हुए कहा कि फिर ये अग्निवीर भी सड़कों पर उतरेंगे और प्रदर्शन के लिए मजबूर होंगे।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथन'देश में हिंसा का माहौल बनाना बिल्कुल गलत'

विवि. के पूर्व छात्र विनीत शर्मा ने कहा कि इस योजना में जनहित की बजाय राजहित ज्यादा दिखाई दे रहा है। हाल ही में आयोजित हुई भर्तियों के चयनितों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। युवाओं को इस बात का डर है कि जब वे चार साल बाद लौटेंगे तो उनके भविष्य के साथ क्या होगा। जरूरत है कि सरकार 4 साल बाद के भविष्य के लिए उन्हें सुरक्षा प्रदान करें।
समाजसेवी बुद्धिराम मान ने कहा कि चार साल बाद जब युवा लौटेगा तो वापस पढ़ाई में लगना मुश्किल होता है। योजना अच्छी है, लेकिन अभी मंथन की आवश्यकता है। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं हैं।
युवा भारत भूषण यादव ने कहा कि युवाओं को देश में हिंसा का माहौल नहीं बनाना चाहिए। सरकार को लोगों की बात सुननी चाहिए कि आखिर वे क्या चाहते हैं। साथ ही कहा कि योजना में कमी हो तो उसे सही करना चाहिए।
पत्रिका ने टॉक शो आयोजित कर युवाओं को उपलब्ध कराया मंच, 'अग्निपथ' को लेकर हुआ महामंथनयोजना के पक्ष में भी दिखे कुछ छात्र

छात्र किरोड़ीलाल सैनी ने बताया कि लोग देशभक्ति के लिए सेना में शामिल होते हैं। उन्हें रूपयों से कोई वास्ता नहीं होता है। उन्होंने कहा कि इस योजना से देश का विकास होगा। युवा अग्निवीर बनने के बाद जब लौटेंगे तो उन रूपयों से व्यवसाय कर सकते हैं। उन्होंने इस भर्ती को पूरी तरह सही बताया।
इधर, युवा अनिकेत शर्मा ने कहा कि चार साल में युवाओं को सेना में रहकर सीखने के लिए बहुत कुछ मिलेगा। युवा अनुशासित बनेंगे। साथ ही कहा कि जिन्हें योजना में कमी निकालनी हैं वे कमी निकाल सकते हैं। ऐसे लोग हर अच्छी योजना में भी कमी निकालते ही हैं।
युवा नरेंद्र यादव ने कहा कि इस योजना से देश के अंतिम छोर पर बैठे युवा को भी सेना में जाने का अवसर मिल सकेगा। युवा देशसेवा कर सकेगा। उन्होंने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि वे शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करें।
4444_1.pngये बोले पूर्व सैन्य अधिकारी...

टॉक शो में पूर्व सैन्य अधिकारियों ने भी रखी बात, सेना के रिटायर्ड कैप्टन जीएस राठौड़ ने अग्निपथ योजना को बेहतरीन बताते हुए कहा कि इसमें सुधार की भी आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कई देशों में यह योजना पहले से चल रही है। उन्होंने कहा कि 24 साल वो उम्र हैं, जिसके बाद ही अधिकांश युवाओं की नौकरी लगते हैं। ऐसे में वे योजना के तहत मिले पैसे का कोई भी अन्य उपयोग कर सकते हैं।
जबकि रिटायर्ड कैप्टन रामसिंह ने बताया कहा कि योजना में सबसे अच्छा यह है कि युवा अनुशासन सीखेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि जब अग्निवीर लौटे तो उसके साथ ही उसे दूसरी नौकरी दी जानी चाहिए। ताकि वह बेरोजगार ना रहे। उन्होंने बताया कि करीब 30 देशों में यह योजना पहले से चल रही है। रिटायर्ड कैप्टन बोले कि इस योजना में जो युवा जाएं तो उनका भविष्य बेहतर हो, इस संबंध में सरकार को प्रावधान करने चाहिए।
pp_1.pngदेखें टॉक शो...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Mukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली पोस्टर विवाद में घिरीं महुआ मोइत्रा के समर्थन में आए थरूर, कहा- 'हर हिन्दू जानता है देवी के बारे में'यूपी को बड़ी सौगात, काशी को 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम Modi, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का करेंगे लोकार्पणDelhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवशिखर धवन बने टीम इंडिया के नए कप्तान, वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का हुआ ऐलानकौन हैं डॉ. गुरप्रीत कौर, जो बनने जा रही हैं भगवंत मान की दुल्हनिया? सामने आई तस्वीरसलमान के वकील को लॉरेंस गुर्गों की धमकी, मूसेवाला हाल करेंगेDGCA का SpiceJet को कारण बताओ नोटिस, 18 दिनों में 8 बार आई प्लेन में खराबी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.