पेनडाउन पर पटवारी


8 मार्च को महिला पटवारी रखेंगी एक दिन का उपवास
9 मार्च से पूरे प्रदेश में सम्पूर्ण कार्य बहिष्कार
संभागवार शहीद स्मारक पर धरना जारी

By: Rakhi Hajela

Updated: 02 Mar 2021, 12:37 AM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India


अपने हक की लड़ाई के लिए 15 फरवरी से धरने पर बैठे पटवारी आज से पेनडाउन पर हैं। सरकार की ओर से उनकी मांगों पर कोई सुनवाई नहीं होने के चलते पटवारियों ने यह निर्णय लिया है। इस दौरान पटवारी अपनी.अपनी तहसीलों में तो उपस्थित रहेंगे लेकिन न तो ऑनलाइन काम करेंगे,न ही ऑफलाइन और न ही किसी कागज पर साइन करेंगे। सरकार से पांच दौर की वार्ता असफल होने के बाद राजस्थान पटवार संघ ने यह निर्णय लिया है। संघ के प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र निमिवाल ने बताया कि वार्ता में हमारी मांगों पर कोई सहमति नहीं बनी। पहले हमने सरकार को 1 मार्च से पूर्ण कार्य बहिष्कार का अल्टीमेटम अल्टीमेटम दिया था लेकिन अब उसमें बदलाव करके 1 से 4 मार्च तक पेनडाउन करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही 8 मार्च को महिला दिवस पर पूरे प्रदेश भर में महिला पटवारी उपवास रखेंगी।यदि 8 मार्च तक हमारी मांगों पर सहमति नहीं बनती है तो 9 मार्च से पूरे प्रदेश भर में पटवारी पूर्ण कार्य बहिष्कार करेगा।
14 माह से आंदोलनरत हैं पटवारी
आपको बता दें कि अपनी मांगों को लेकर पटवारी पिछले 14 माह से आंदोलनरत हैं। उन्होंने ऑनलाइन क्रॉप कटिंग के कार्य का बहिष्कार किया था फिर लाल बस्ता सड़क पर रैली निकाली। इसके बाद अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य का बहिष्कार कर रहे हैं। इतना ही नहीं 15 फरवरी को राजस्व बोर्ड अजमेर से पैदल चल कर जयपुर आए और तब से शहीद स्मारक पर धरना दे रहे हैं लेकिन सरकार सुध लेने को तैयार नहीं है। ऐसे में पटवारियों ने सोमवार से प्रदेश भर में पेन डाउन रखने के साथ ही तहसील कार्यालय में उपस्थिति देने का निर्णय लिया है।
संभागवार धरना भी रहेगा जारी
पटवार संघ ने शहीद स्मारक पर चल रहा पटवारियों का धरना भी जारी रखने का एलान किया है। आज जोधपुर संभाग के पटवारी धरने के साथ क्रमिक अनशन पर बैठे। कल भी यहीं पटवारी यहां रहेंगे। इसके बाद 3 और 4 मार्च को बीकानेर और अजमेर संभाग, 5 और 6 मार्च को कोटा व भरतपुर संभाग के पटवारी तथा 7 और 8 मार्च को उदयपुर और जयपुर संभाग के पटवारी धरना देंगे और क्रमिक अनशन करेंगे।
इन मांगों को लेकर संघर्षरत हैं पटवारी
: वेतन विसंगति को दूर की जाए
: वेतन सुधार के लिए पूर्व में हुए समझौते को लागू किया जाए
: ग्रेड पे 3600 करते हुए पटवारी पद को तकनीकी अधिसूचित किया जाए
: एसीपी योजना के तहत 9,18,27 वर्ष की सेवा अवधि के स्थान पर 7,14,21,28 और 32 साल की सेवा अवधि पूरी करने पर चयनित वेतनमान का लाभ देते हुए पदोन्नति पद का वेतनमान दिया जाए
: नो वर्क नो पे का आदेश निरस्त करते हुए कोटा संभाग और सवाई माधोपुर संभाग के पटवारियों को उनके वेतन का भुगतान किया जाए। संगठन के साथ पूर्व में हुए समझौतों और संगठन द्वारा समय समय पर प्रेषित ज्ञापनों का सकारात्मक निस्तारण किया जाए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned