आठवें दिन भी जारी पटवारियों का धरना,एक मार्च से करेंगे कार्य का बहिष्कार


बीकानेर संभाग के पटवारी पहुंचे धरना स्थल

By: Rakhi Hajela

Published: 22 Feb 2021, 06:34 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

अपने हक के लिए चल रही पटवारियों की लड़ाई सोमवार को आठवें दिन भी जारी रही। पिछले आठ दिनों से पटवारी पटवारी शहीद स्मारक पर धरना दे रहे हैं। सोमवार को बीकानेर संभाग के पटवारी धरना स्थल पर पहुंचे और 3600 ग्रेड पे करने की मांग की। राजस्थान पटवार संघ की ओर से चल रहे धरने को अलग अपनेहअलग संगठनों का भी समर्थन मिल रहा हैं। पटवारियों का कहना है कि वेतन विसंगति एवं वेतन सुधार के लिए पूर्व में हुए समझौतों एवं पटवारी के कार्य की बहुण्आयामी राजस्वए प्रशासनिक और तकनीकी प्रकृति के मद्देनजर ग्रेड पे 3600 पे लेवल.10 करते हुए पटवारी पद को तकनीकी अधिसूचित किया जाए। एसीपी योजना तहत 9ए18ए27 वर्ष की सेवा अवधि के स्थान पर 7ए14ए 21ए28 व 32 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण करने पर चयनित वेतनमान का लाभ देते हुए पदोन्नति पद का वेतनमान दिया जाए। नो वर्कए नो पे का आदेश निरस्त करते हुए कोटा संभाग तथा सवाई माधोपुर के पटवारियों के वेतन का भुगतान किया जाए। संगठन के साथ पूर्व में हुए समझौता एवं संगठन द्वारा समय समय पर प्रेषित ज्ञापनों का सकारात्मक निस्तारण किया जाए। यदि हमारी सरकार मांगों को नहीं मानती है तो 1 मार्च से कार्य का बहिष्कार किया जाएगा।

..............

कर्मचारी महासंघ ने राजस्थान पटवार संघ के आंदोलन का किया समर्थन
सरकार नहीं अपना रही सकारात्मक दृष्टिकोण

अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने विगत दिनों से राजस्थान पटवार संघ की ओर से जा रहे आन्दोलन का समर्थन करते हुए राज्य सरकार द्वारा आन्दोलन कर्मियों से द्विपक्षीय वार्ता नहीं कर हल नहीं निकालने की आलोचना की।
महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष आयुदान सिंह कविया ने बताया कि महासंघ ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर मांग की है कि राजस्थान का पटवार संघ पिछले कई दिनों से आन्दोलन कर रहा है लेकिन राज्य सरकार की ओर से उनकी मांगों पर कोई सकारात्मक दृष्टिकोण नहीं अपनाया गया है एवं ना ही कोई द्विपक्षीय वार्ता आयोजित की गई है, ऐसे में राज्य सरकार शीघ्र पटवार संघ की मांगों पर निर्णय करे अन्यथा महासंघ ज्यादा दिन तक मूकदर्शक बन कर नर्हं रह सकता एवं महासंघ इस आन्दोलन को और तेज करने के लिए शीघ्र हस्तक्षेप करना पड़ेगा। कविया ने राज्य सरकार पर लगातार कर्मचारी आन्दोलन को नजरअन्दाज करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार पहले भी दर्जनों संगठनों के आन्दोलनों को नजरअंदाज किया है। अब समय आ गया है कि समय रहते सरकार नहीं सुधरी तो राज्य का कर्मचारी अब संयुक्त रूप से आन्दोलन के लिए मजबूर होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned