पीसीसी चीफ डोटासरा आज से सुनेंगे कार्यकर्ताओं की फरियाद

दोपहर तीन बजे पीसीसी मुख्यालय में वन टू वन करेंगे मुलाकात, अब हर सप्ताह में तीन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को करेंगे सुनवाई

By: firoz shaifi

Published: 23 Nov 2020, 10:19 AM IST

जयपुर। प्रदेश में सरकार बनने के बावजूद मंत्रियों और विधायकों की ओर से कार्यकर्ताओं के काम नहीं करने की लगातार आ रहीं शिकायतें और कार्यकर्ताओं की नाराजगी को दूर करने की कवायद अब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने शुरू कर दी है।

कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनने और उनके गिले-शिकवे दूर करने के लिए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा आज से कार्यकर्ताओं की सुनवाई कर उनकी समस्याओं का निस्तारण करेंगे।

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा आज दोपहर 3 बजे प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में वन टू वन कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे और सरकार में उनके कामकाज नहीं होने की शिकायतें सुनने के साथ ही समस्याओं का मौके पर निस्तारण करेंगे। डोटासरा 24 नवंबर और 25 नवंबर को भी सुबह 11 बजे कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे।

सप्ताह में 3 दिन कार्यकर्ताओं की सुनवाई करेंगे डोटासरा
प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा अब हर सप्ताह में 3 दिन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनेंगे। उसके अलावा सरकार के विभिन्न विभागों में लंबित पड़े उनके कामों को त्वरित से निपटाने के आदेश भी अधिकारियों को देंगे। कार्यकर्ताओं की सुनवाई के दौरान डोटासरा हर परिस्थिति में कार्यकर्ताओं को एकजुट रहने और नाराजगी को सार्वजनिक मंचों पर कहने की बजाए पार्टी फोरम पर ही करने की नसीहत भी देंगे।


गौरतलब है कि मंत्री विधायकों की ओर से कार्यकर्ताओं की समस्याएं नहीं सुनने और उनकी उपेक्षा की जाने की शिकायतें लगातार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंच रही थी। प्रदेश प्रभारी अजय माकन के समक्ष भी कार्यकर्ताओं ने काम नहीं होने का मामला उठाया था जिस पर माकन ने पीसीसी गोविंद सिंह डोटासरा को कार्यकर्ताओं की शिकायतें सुनने के निर्देश दिए थे।

मार्च माह से बंद है पीसीसी में जनसुनवाई
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की शिकायतें सुनने उनके कामकाज निपटाने के लिए तत्कालीन पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने बीते साल अक्टूबर माह से प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जनसुनवाई शुरू की थी, जिसमें सप्ताह में 5 दिन सभी मंत्री पीसीसी में आकर कार्यकर्ताओं के साथ साथ आमजन की शिकायतें सुनकर उनका निस्तारण करते थे।

करीब 6 महीने सुनवाई के बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दस्तक होने के चलते मार्च माह से पीसीसी में कार्यकर्ताओं की जनसुनवाई कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया था, जिसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता अपनी समस्याओं को लेकर मंत्री-विधायकों के यहां चक्कर लगाया करते थे लेकिन उनके काम नहीं हो पा रहे थे, जिससे पार्टी और सरकार को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में ही नाराजगी बढ़ती जा रही थी।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned