शाहीन बाग-जामिया में पेट्रोल बम फेंके

सीसीए का विरोध: पुलिस का दावा प्रदर्शनकारियों के ही दो गुटों की भिड़ंत

 

By: anoop singh

Published: 23 Mar 2020, 12:53 AM IST

नई दिल्ली.
कोरोना के खिलाफ जनता कर्यू के दौरान रविवार सुबह शाहीनबाग प्रदर्शन स्थल और जामिया मिलिया इस्लामिया के बाहर खाली प्रदर्शन स्थल पर कुछ अज्ञात लोगों ने पेट्रोल बम फेंके। दोनों घटनाओं के बीच कुछ घंटों का अंतर था। जामिया कोआर्डिनेशन कमेटी (जेसीसी) का कहना है कि जामिया के बाहर एक हमलावर गोलियां भी चलाईं।
शाहीनबाग में वारदात के वक्त संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ पिछले करीब तीन महीनों से प्रदर्शन कर रहीं महिलाएं मौजूद थीं, हालांकि किसी के घायल होने की सूचना नहीं। आग पर काबू पर लिया गया है। पुलिस को हमले के पीछे प्रदर्शनकारियों के बीच कोरोना वायरस फैलने के कारण विरोध प्रदर्शन को बंद करने के मुद्दे पर चल रहा आंतरिक झगड़ा है।
अतिरिक्त डीसीपी (दक्षिण पूर्व), कुमार ज्ञानेश के मुताबिक शाहीन में बैरिकेड के पास ५-६ पेट्रोल बम पड़े भी मिले हैं। प्रथमदृष्टया बम फेंकने वाला प्रदर्शनकारियों में ही एक था। प्रदर्शनकारियों के बीच कल से ही झड़पें हो रही हैं। शनिवार रात इस संबंध में एक फोन भी आया है। पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा था।
डिलीवरी बॉय बनकर आया था हमलावर: जेसीसी
जामिया कोऑडिनेशन कमेटी (जेसीसी) ने एक बयान में कहा, 'एक बदमाश ने गेट नंबर ७ के जामिया स्क्वायर में विरोध स्थल पर पेट्रोल बम फेंका।...सीसीटीवी फुटेज में बदमाश एक डिलीवरी बॉय के कपड़ों में हेलमेट पहनकर आया था। उसकी बाइक पर तीन बैग थे, जिससे उसकी नंबर प्लेट नहीं दिख रही है। फायरिंग में इस्तेमाल कारतूस का खोल पुलिस ले गई है। घटना सुबह ९:३० की है और हमलावर ओखला की ओर से आया था। इस दौरान टेंट खाली था क्योंकि छात्रोंं ने विरोध प्रदर्शन को फिलहाल निलंबित कर रखा है। जेसीसी ने बताया कि उन्होंने घटना की जानकारी पुलिस को दे है। इसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को दे दिया है।

shaheen bagh
anoop singh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned