वसुंधरा सरकार से राहत, पर मोदी सरकार से जारी है झटके का सिलसिला, फिर बढ़े पेट्रोल-डीज़ल के दाम

Nakul Devarshi | Publish: Sep, 10 2018 08:39:11 AM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 08:49:58 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर।

राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने भले ही पेट्रोल-डीज़ल के दामों में वैट घटाकर जनता तो थोड़ी राहत दी है, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर अभी भी तेल कीमतों में वृद्धि का दौर जारी है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम कम होने के बजाये और बढ़ते जा रहे हैं। सोमवार को भी पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ गए। पेट्रोल की कीमत में 23 पैसे की वृद्धि हुई है जबकि डीजल में 22 पैसे का इजाफा हुआ है। नए दामों के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80 रूपए 73 पैसे प्रति लीटर पहुंच गई है। इसी तरह से मुंबई में एक लीटर पेट्रोल का दाम 88 रूपए 12 पैसे पहुंच गया है।

 

सिर्फ पेट्रोल ही नहीं इसके साथ डीज़ल की कीमत में भी वृद्धि थमने का नाम नहीं ले रही है। डीजल की कीमत में 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, जिसके बाद दिल्ली में एक लीटर डीजल के लिए 72 रूपए 83 पैसे खर्च करने पड़ेंगे। जबकि मुंबई की बात की जाए तो यहां एक लीटर डीजल का रेट बढ़कर 77 रूपए 32 पैसे हो गया है।

 

... इधर राजस्थान सरकार ने घटाया चार प्रतिशत वैट
कांग्रेस के भारत बंद से ठीक एक दिन पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बड़ा फैसला लेते हुए पेट्रोलियम पदार्थों पर वैट में चार प्रतिशत की कमी कर दी है। मुख्यमंत्री ने हनुमानगढ़ के रावतसर में रामचंद्र मटोरिया की मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में यह घोषणा की है। इस घोषणा के बाद पेट्रोल और डीजल की प्रति लीटर कीमतों पर करीब ढाई से तीन रुपए तक की कमी आएगी।

 

READ: मोदी सरकार की पेट्रोलियम कंपनियों ने वसुंधरा सरकार की जनता को दी राहत में पहले ही दिन मारी कुंडी, जानिए ऐसा क्यों

 

डीजल पर अब 18 व पेट्रोल पर 23 प्रतिशत वैट
वर्तमान में राजस्थान सरकार की ओर से पेट्रोल पर 30 प्रतिशत और डीजल पर यह 22 प्रतिशत वैट वसूला जा रहा था। चार प्रतिशत कमी के बाद अब पेट्रोल पर 23 प्रतिशत और डीजल पर 18 प्रतिशत वैट लिया जाएगा। राज्य सरकार की ओर से वैट में चार प्रतिशत की कमी के बाद माना जा रहा है कि पेट्रोल-डीजल के दामों में करीब ढाई से तीन रुपए तक की कमी आएगी। रविवार को पेट्रोल के दाम 83 रुपए 42 पैसा और डीजल के दाम 77 रुपए 31 पैसा प्रति लीटर थे।

 

दो हजार करोड़ का पड़ेगा भार
मुख्यमंत्री की ओर से पेट्रोल-डीजल पर से वैट कम करने के बाद वित्त विभाग ने रात को ही इसकी अधिसूचना जारी कर दी। राज्य सरकार के खजाने पर इससे करीब दो हजार करोड़ रुपए का वित्तीय भार पड़ेगा। यह घोषणा मध्य रात्रि से लागू हो जाएगी।

 

सरकार पर था दबाव
पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार हो रही बेतहाशा वृद्धि के बाद राज्य सरकार पर भी लगातार दबाव पड़ रहा था कि वह पेट्रोल डीजल के दामों को कम करे। राजस्थान गौरव यात्रा के दौरान प्रदेश के लोगों ने उनसे मांग की थी कि इनके दाम कम होने चाहिए। दामों में वृद्धि का सभी तरफ विरोध हो रहा था।

 

ये कहा सीएम ने
मुख्यमंत्री का कहना था कि हमारी सरकार जनता की सरकार है, जनता की आवाज हमारे लिए ईश्वर की आवाज होती है इसलिए हमने जनता की आवाज पर पेट्रोल-डीजल के दामों में यह कमी की है। इस कमी से आम व्यक्ति, किसान, व्यापारी, विद्यार्थी, नौकरीपेशा करने वाले व्यक्ति, महिला और सभी वर्गों को राहत मिलेगी।

 

READ: पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम होने के बाद ये कहना है कांग्रेस और बीजेपी के नेताओं का, देखें वीडियो रिपोर्ट


हमें राहत नहीं, सरकार दूसरे देशों को 34 रुपए लीटर बेच रही पेट्रोल: शैलजा
प्रदेश कांग्रेस की छानबीन समिति की अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने केंद्र सरकार पर पेट्रोल-डीजल में आमजन को राहत नहीं देने वहीं दूसरे देशों को दोनों ही तेल आधे से भी कम दाम में बेचने का आरोप लगाया है। शैलजा ने रविवार को यहां पत्रकारों को बताया कि हमें सरकार 78 से 86 रुपए में पेट्रोल और 75 रुपए प्रति लीटर में डीजल दे रही है। जबकि दूसरे 15 देशों को भारत सरकार महज 34 रुपए लीटर पेट्रोल और 25 रुपए लीटर डीजल बेच रही है। जब यूपीए सरकार थी, तब 16 मई 2014 को कच्चे तेल की दर 107.09 डॉलर प्रति बैरल थी। जबकि पेट्रोल 71.41 और डीजल 55.49 रुपए प्रति लीटर था। आज जबकि कच्चा तेल 73 डॉलर प्रति बैरल है।

 

महंगाई जरूर बढ़ गई
शैलजा ने कहा कि सरकार कह रही है जीडीपी बढ़ रही है। आम आदमी को इसका तो पता नहीं, लेकिन महंगाई जरूर आसमान पर पहुंच रही है। गैस सिलेण्डर 414 से बढ़कर 754 रुपए हो गया। वहीं सब्सिडी वाला सिलेण्डर करीब 84 रुपए महंगा हो गया।

 

दाल के भाव में खाई गच्चा
शैलजा ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने के बाद दूध 40 से 52 प्रति लीटर, प्लेटफार्म टिकट 3 से 20, दाल 70 से 170 रुपए प्रति किलो हो गई है। पत्रकारों ने सवाल किया, कौन सी दाल 170 रुपए किलो बिक रही है तो वह कोई जवाब नहीं दे सकीं।

 

READ: राजस्थान में पेट्रोल-डीजल कटौती की घोषणा के बाद, अब इस कीमत में मिलेगा तेल

 

कांग्रेस के दबाव में मुख्यमंत्री को पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करना पड़ा - गहलोत
पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे को कांग्रेस के कल के भारत बंद को मिल रहे जन समर्थन को देखते हुए दबाव में आकर पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करना पड़ा। गहलोत ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई दरों को देखते हुए जो 4 प्रतिशत वैट कम किया है, वह नाकाफी है तथा रसोई पर बढ़ते महंगाई के दबाव को देखते हुए अविलम्ब गैस सिलेण्डर पर भी राहत दी जानी चाहिए।

 

उन्होंने कहा कि हमने कांग्रेस शासन में प्रति सिलेण्डर 25 रुपये कम किये थे। अब गैस सिलेण्डर की बढ़ी दरों को देखते हुए कम से कम 100 रुपये कम किये जाने चाहिए।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned