गर्मी है तेज, पेट्रोल टंकी हर्गिज न कराएं फुल, वरना आ सकती है आफत

आप कार या बाइक की पेट्रोल टंकी फुल करवाने जा रहे हैं तो संभल जाएं। 43-44 डिग्री सेल्सियस की गर्मी में ऐसा करना आपके लिए मुसीबत बन सकता है।

By: santosh

Published: 03 May 2018, 10:06 AM IST

जयपुर। आप कार या बाइक की पेट्रोल टंकी फुल करवाने जा रहे हैं तो संभल जाएं। 43-44 डिग्री सेल्सियस की गर्मी में ऐसा करना आपके लिए मुसीबत बन सकता है। गर्मी में टंकी में जगह नहीं बचने पर यह गर्म होकर फट भी सकती है और जानलेवा हो सकती है। ऑटो एक्सपट्र्स के मुताबिक पेट्रोल टैंक में कम से कम 100 से 200 मिलीलीटर पेट्रोल की जगह खाली रखनी चाहिए। पिछले साल तेज गर्मी के दौरान टंकी फुल होने से कई हादसे हो चुके हैं। गर्मी में कार, बाइक या अन्य वाहन के लिए विशेष सावधानियां बरतने की जरूरत है।

 

पेट्रोल पंप पर 3 सावधानियां आपकी जान के लिए जरूरी
1. पेट्रोल टैंक आप पूरा भरवाते है तो टंकी में से एयर निकलने की जगह नहीं रह जाती, जिससे हीट बनकर विस्फोट हो सकता है। टैंक में कम से कम 100 से 200 मिलीलीटर की जगह हमेशा रखें।

2. जैसे ही नोजल के पेट्रोल को टच करने पर सप्लाई बंद हो जाए तो पेट्रोल हर्गिज न भरवाएं। ताकि एयर के लिए गैप बना रहे।

3. पेट्रोल जब भी डलवाएं तो गाड़ी व मोबाइल दोनों बंद कर दें। गर्मी में एेसे भी हादसे हुए हैं जिसमें पेट्रेल भरवाते समय कॉल रिसीव करते ही वाहन में आग लग गई।

 

सड़क पर 3 सावधानियां, आपकी जान के लिए जरूरी
1.स्पीड पर कंट्रोल: टायर में ज्यादा हवा होगी, तो तेज स्पीड में टायर में प्रेशर और बढ़ जाता है। जिससे टायर फटने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए गाड़ी की स्पीड में कंट्रोल रखना चाहिए।
2. ओवरलोड न करें: टायर में हवा मानक से भी कम है तो ओवर लोडिंग नहीं करें। गाड़ी में ओवरलोड होगा तो रोड की तपिश से टायर के फटने का खतरा बढ़ जाता है।
3. नाइट्रोजन गैस है उपाय: गर्मी में टायर में सामान्य हवा की जगह नाइट्रोजन गैस भरवाएं। यह गैस टायर में प्रेशर को लम्बे समय तक स्थिर बनाए रखती है। फॉर्मूला वन रेस गाडि़यों के टायर में नाइट्रोजन गैस का ही इस्तेमाल किया जाता है।

 

हो चुके हैं हादसे
- पिछले साल भरतपुर में एक व्यवसायी ने कार का टैंक फुल करवा लिया था और थोड़ी दूर चलने के बाद उनकी कार में अचानक ही आग लग गई। कार चालक बड़ी मुश्किल से कार से बाहर निकल पाया।
- राजधानी में कई घटनाएं हुई हैं, जिसमें पेट्रोल फुल करवाने के बाद कार में आग लगी हैं।

कोई भी रासायनिक पदार्थ गर्मी के कारण बढ़ जाता है। इसलिए उसमें थोड़ा गैप रखना जरूरी होता है। अगर यह गैप नहीं होगा तो विस्फोट होने खतरा रहता है।
-सुमित बगई, अध्यक्ष, राजस्थान पेट्रोल पम्प डीलर्स एसोसिएशन

तपिश की वजह से टायर में कम या ज्यादा प्रेशर होने पर इनके फटने का खतरा बढ़ जाता है। इन दिनों रोड की तपिश आम दिनों से ज्यादा है। हवा ज्यादा या कम होने पर टायर फटने की संभावना बढ़ जाती है। टायर को पहले चैक कर लें।
-विकास योगी, ऑटोमोबाइल एक्सपर्ट

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned