टैक्स वृद्धि के विरोध में पेट्रोल पंपों की हड़ताल

राजस्थान में पेट्रोल और डीजल पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और गुजरात के मुकाबले पहले ही महंगा

जयपुर. केन्द्र सरकार की ओर से पेट्रोल व डीजल के दामों में की गई टेक्स वृद्धि के विरोध में राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोएिसशन ने बुधवार को प्रदेशभर में एक दिन के लिए पेट्रोल पंप बंद रखके सांकेतिक हड़ताल करने का निर्णय लिया है। ऐसे में राजस्थान के करीब 4300 पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल-डीजल उपलब्ध नहीं होगा। राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोएिसशन के प्रदेशाध्यक्ष सुनीत बगई ने बताया कि बुधवार को सुबह 6 बजे से गुरुवार को सुबह 6 बजे तक प्रदेश के सभी पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। राजस्थान में एक दिन में करीब 54 लाख लीटर पेट्रोल और करीब एक करोड़ 10 लाख लीटर डीजल की प्रतिदिन की खपत है।

हड़ताल का कारण
मौजूदा सरकार ने लोकसभा चुनाव समाप्त होने के तुरंत बाद जुलाई में पेट्रोल और डीजल पर वैट की दर में चार प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी और अब यह बढ़कर डीजल पर 22 और पेट्रोल पर 30 प्रतिशत हो गया है। सरकार ने यह कदम अपना कर राजस्व बढ़ाने के लिए उठाया था, लेकिन सरकार के इस निर्णय का उल्टा असर हुआ। राजस्थान में पेट्रोल और डीजल पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और गुजरात के मुकाबले पहले ही महंगा था। वैट की दरें बढऩे के बाद यह अंतर पांच से आठ रुपए प्रति लीटर तक हो गया। स्थिति यह है कि राजस्थान में जहां पेट्रोल औसतन 77 रुपए प्रति लीटर तथा डीजल 72 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है, वहीं पड़ोसी राज्यों में पेट्रोल औसतन 73 रुपए तथा डीजल 65 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है।

Jagmohan Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned