900 मीटर डीआई पाइप लाइन खा गया ठेकेदार

पीएचईडी में फर्जीवाड़े का खेल
इंजीनियरों की मिलीभगत से बगरू में पाइप लाइन बिछाने में हुआ घोटाला
फर्म ने डीआई पाइप लाइन की जगह एसडीपी पाइप डालकर उठाया भुगतान
सीसी रोड की मरम्मत नहीं फिर भी उठाई राशि
मौके पर पहुंचे एक्सईएन, फर्म को ब्लैकलिस्ट करने की अनुशंसा

जयपुर। प्रदेश के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिक विभाग में जयपुर जिलावृत्त में बीते कुछ महीनों में इंजीनियरों की मिलीभगत से हुए बड़े फर्जीवाड़े अब उजागर होने लगे हैं। विभाग के इंजीनियरों की जेबें गर्म कर निजी ठेका फर्मों ने जिले की कई पेयजल योजनाओं को कबाड़ा कर दिया तो दूसरी तरफ आम आदमी अब भी रोजमर्रा जरूरत लायक पानी के लिए तरस रहा है। ऐसा ही एक मामला जिलावृत्त प्रथम एक्सईएन ने बीते सोमवार को बगरू कस्बे में पकड़ा। बेखौफ ठेका फर्म ने टेंडर में स्वीकृत डक्टाइल आयरन—डीआई पाइप लाइन की जगह एसडीपी पाइप बिछाकर टेंडर राशि का पूरा भुगतान उठा लिया। यहीं नहीं ठेका फर्म ने सीसी रोड रिपेयर के मद में स्वीकृत राशि का भुगतान भी विभाग ने ले लिया जबकि सोमवार को हुई जांच में मौके पर सीसी रोड क्षतिग्रस्त पाई गई। अब एक्सईएन ने विभाग के आलाधिकारियों को संबंधित ठेका फर्म को ब्लैक लिस्ट करने की सिफारिश की है।

यह है मामला
जलदाय विभाग जिलावृत्त प्रथम ने सितंबर 2018 में बगरू शहर में 1580 मीटर डीआई पाइप लाइन बिछाने का काम स्वीकृत कर मैसर्स दिनेश कंस्ट्रक्शन कंपनी को 34 लाख 18 हजार 802 रुपए 52 पैसे लागत का कार्यादेश जारी किया। फर्म ने विभाग के इंजीनियरों से मिलीभगत कर 1580 मीटर डीआई पाइप लाइन में से करीब 680 मीटर लंबाई की डीआई पाइप लाइन बिछाई जबकि पाइप लाइन के दोनों छोर के बीच एसडीपी पाइप लाइन बिछाकर पूरा भुगतान विभाग से ले लिया।
सीसी रोड मरम्मत नहीं फिर भी लिया भुगतान
फर्म की कारगुजारी यहीं नहीं थमी फर्म संचालकों ने विभाग से सीसी रोड मरम्मत के लिए स्वीकृत राशि का भुगतान भी उठा लिया। जबकि बगरू शहर में बिछाई गई पाइप लाइन के कुछ स्थानों पर नगर पालिका बगरू ने रोडकट वाले स्थानों पर सीसी रोड की मरम्मत कराई है।
एक्सईएन पहुंचे मौके पर तब खुला फर्जीवाड़ा
बीते सोमवार को जिलवृत्त प्रथम एक्सईएन जितेंद्र शर्मा पेयजल योजना का जायजा लेेने मौके पर पहुंचे तब फर्म द्वारा किए गए फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। अब एक्सईएन ने विभाग के प्रमुख शासन सचिव, सीई अरबन, एसीई जयपुर रीजन द्वितीय और एसई विजीलेंस को रिपोर्ट भेजकर फर्म को ब्लैकलिस्ट करने व फर्म का रजिस्ट्रेशन रद्द करने की सिफारिश की है।
विभाग से गायब फर्म की पत्रावली
एक्सईएन ने आलाधिकारियों को भेजी गई रिपोर्ट में मैसर्स दिनेश कंस्ट्रक्शन कंपनी व मैसर्स खोखर एंटरप्राइजेज द्वारा जिलावृत्त प्रथम में किए गए कार्यों की एमबी बुक व टेंडर दस्तावेज की पत्रावली विभाग के कार्यालय से गायब होने की सूचना भी संलग्न की है। माना जा रहा है कि फर्म ने फर्जीवाड़ा उजागर होने की आशंका के चलते सांठगांठ कर कार्यालय से संबंधित दस्तावेज ही गायब कर दिए हैं।

यहां हुआ फर्जीवाड़ा
धोबी मोहल्ला बगरू — 404 मीटर पाइप लाइन
झाग बस स्टैंड से रैगर मोहल्ला— 282 मीटर
झाग बस स्टैंड से रतिराम का घर— 111 मीटर
गुलाब चंद खटीक का मौहल्ला— 210 मीटर
आचार्य मोहल्ला— 47 मीटर
नाडी मोहल्ला— 133 मीटर
नाडी मोहल्ला से बाबडिया बाबा का मोहल्ला— 176 मीटर
लक्ष्मीनाथ चौक से छीपा मोहल्ला— 120 मीटर
रैगर मोहल्ला— 144 मीटर
बगरू गढ़ के पीछे खाती मोहल्ला— 163 मीटर


इनका कहना है—
फर्म ने बगरू में डीआई पाइप लाइन बिछाने, कनेक्शन शिफ्ट करन और सीसी रोड मरम्मत में गड़बड़ी कर सरकार को वित्तीय नुकसान पहुंचाया है। मामले की रिपोर्ट आलाधिकारियों को भेजी गई है। जितेंद्र शर्मा,एक्सईएन जिलावृत्त प्रथम, जलदाय विभाग

anand yadav
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned