विवादास्पद टंकी निर्माण में 'यूटर्न'क्लीनचिट देने में जुटे एक्सईएन

जलदाय विभाग के आला अफसरों ने टंकी का डोम हटाने के दिए निर्देश
एक्सईएन टंकी निर्माण के काम को क्लीन चिट देने की तैयारी में
स्थानीय विधायक ने जलदाय मंत्री को लिखा पत्र

By: anand yadav

Updated: 03 Dec 2019, 10:28 AM IST

जयपुर। ढेहर का बालाजी क्षेत्र में बन रही पानी टंकी के डोम में जलदाय इंजीनियरों की लापरवाही उजागर होने के बाद अब मामले में नया मोड़ आ गया है। एक तरफ स्थानीय विधायक से लेकर विभाग के आला अफसर टंकी निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री के उपयोग को लेकर टंकी के डोम को हटाकर नया निर्माण कराने की बात कह रहे हैं। तो विभाग के एक्सईएन व टंकी निर्माण के इंजीनियर इंचार्ज पवन अग्रवाल टंकी निर्माण के काम को लेकर फर्म को क्लीनचिट देने की तैयारी कर चुके हैं।
गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने सबसे पहले ढेहर का बालाजी क्षेत्र में बन रहे उच्च जलाशय के डोम व क्रॉनिकल वाल व बॉटम डोम के निर्माण व एमएनआईटी से दो बार कराए रिबाउंड हैमरिंग टेस्ट में कॉन्क्रीट सैंपल फेल होने का मामला प्रमुखता से उजागर किया था। खबर प्रकाशित होने के बाद विभाग ने टंकी निर्माण का काम तो रुकवा दिया वहीं विभाग के आलाधिकारियों ने टंकी निर्माण में बरती गई लापरवाही पर एक्सईएन पवन अग्रवाल को कड़ी फटकार भी लगाई। सूत्रों की मानें तो टंकी के विवादास्पद डोम व क्रॉनिकल वाल व बॉटम डोम के हो चुके निर्माण को हटाने व नया निर्माण कराए जाने को लेकर एक्सईएन अग्रवाल को निर्देश दिए गए। लेकिन एक्सईएन ने एमएनआईटी से कराए हैमरिंग टेस्ट को सही ठहराते हुए फर्म को कार्य करने के निर्देश देने का हवाला देते हुए रिपोर्ट आलाधिकारियों को भेजी है।
दूसरी तरफ विद्याधर नगर विधानसभा क्षेत्र विधायक नरपत सिंह राजवी ने भी टंकी निर्माण में लापरवाही की शिकायत को लेकर जलदाय मंत्री डॉ बीडी कल्ला को कार्रवाई करने के संबंध में पत्र लिखा है।

इनका कहना है
मैंने तो रिपोर्ट बनाकर आलाधिकारियों को भेज दी है। टंकी के डोम हटाने हैं या नहीं यह निर्णय तो उन्हे ही करना है। पवन अग्रवाल,एक्सईएन, एन—2 जलदाय विभाग

anand yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned