बजरी के अवैध खनन व कालाबाजारी पर कांग्रेस का सरकार पर हल्ला बोल

pushpendra shekhawat

Publish: Feb, 15 2018 08:22:04 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India

विकास जैन / जयपुर। प्रदेश में अवैध बजरी खनन व बजरी की कालाबाजारी को रोकने और सस्ती बजरी उपलब्ध करवाने की मांग को लेकर कांग्रेस की ओर से गुरूवार को विधानसभा पर भवन निर्माण करने वाले श्रमिकों की ओर से धरना दिया गया। धरने को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि बजरी के अवैध खनन व कालाबाजारी से लाखों लोगों की आजीविका प्रभावित हो रही है। पायलट ने कहा कि भाजपा सरकार अवैध बजरी खनन को संरक्षण दे रही है। जिससे आम लोगों के लिए भवन निर्माण बूते के बाहर हो गया है। उन्होंने कहा कि खनन घोटाला करने वाली भाजपा सरकार ने खनन माफिया को संरक्षण दे रखा है जिससे बजरी की कालाबाजारी हो रही है।

 

पायलट ने कहा कि भाजपा सरकार ने जिस तरह से प्रदेश में जनादेश का अपमान किया है उसी का परिणाम है कि 17 विधानसभा सीटों पर गत उप चुनावों में भाजपा को करारी शिकस्त मिली है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार के जनप्रतिनिधियों की आपसी फूट सामने आ रही है जिससे साबित हो गया है कि भाजपा के भीतर असंतोष चरम पर है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में सरकार विपक्ष को सुनना नहीं चाहती और उन्हीं के विधायक की ओर से बजरी खनन को लेकर उठाए गए मुद्दे की अनदेखी की गई।

 

संघर्ष जारी रखेंगे
प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं विधायक गोविन्दसिंह डोटासरा ने कहा कि भाजपा सरकार तीन महिने से निरंतर खनन पर लगे प्रतिबंध को लेकर गंभीर नहीं है और समस्या के समाधान के कोई काम नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि जब तक बजरी खनन् सुचारू नहीं होगा तब तक कांग्रेस संघर्ष करती रहेगी।

 

प्रदेश में अराजकता व असंतोष व्याप्त
प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं मीडिया चेयरपर्सन अर्चना शर्मा ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने जिस स्तर पर जनता का अहित किया है उससे पूरे प्रदेश में अराजकता व असंतोष व्याप्त हो गया है। धरने को जयपुर शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास, पूर्व सांसद महेश जोशी सहित अन्य प्रमुख नेताओं ने सबोधित किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned