स्कूलों में विकसित की जाए पौध नर्सरी: आर्य


मुख्य सचिव ने दिए पौधरोपण अभियान चलाने के निर्देश

By: Rakhi Hajela

Published: 28 May 2021, 09:03 PM IST



जयपुर, 28 मई। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने राज्य में आगामी मानसून से पूर्व व्यापक स्तर पर पौधरोपण अभियान चलाने के लिए अधिकारियों को शीघ्रातीघ्र रूपरेखा बनाने के निर्देश दिए। आर्य शुक्रवार को मानसून में पौधरोपण से सम्बन्धित कार्य योजना के सम्बन्ध में विभागीय अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। मुख्य सचिव ने मनरेगा के एक्शन प्लान में नर्सरी निर्माण और विकास को शामिल किए जाने के निर्देश देते हुए महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत तालाबों के किनारे, मोक्षधाम, कब्रिस्तान, आंगनबाड़ी केन्द्रों, विद्यालयों, तहसील भवनों आदि में सघन पौधरोपण करवाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने जिला स्तर पर भी पौधरोपण अभियान चलाने के लिए जिला कलेक्टर को पत्र लिखने के निर्देश देते हुए कहा कि जिलों में सभी सीनियर सैकेंडरी स्कूलों में पौध नर्सरी विकसित करने के साथ ही सभी विद्यालयों की खाली जमीन में पौधरोपण कराया जाना सुनिश्चित करें ।
वन विभाग कि प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहा को 1 करोड़ पौधे विभिन्न विभागों को देने का लक्ष्य भी दिया। गुहा ने वीसी के माध्यम से बैठक में भाग लेते हुए बताया कि विभाग द्वारा संचालित 500 नर्सरियां अच्छी स्थिति में हैं। घर.घर औषधीय पौधा वितरण कार्यक्रम के तहत 5 करोड़ पौधों का वितरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 1 करोड़ पौधे विभाग अपने स्तर पर लगाएगा। ग्रामीण विकास सचिव केके पाठक ने जानकारी दी कि नरेगा कार्यो के तहत व्यापक स्तर पर पौधरोपण अभियान की रूप रेखा तैयार की जा रही है। साथ ही ग्रीन हाउस, पॉली हाउस, खाद निर्माण, कैटल शेड जैसे कार्य भी नरेगा के लिए किए जा सकते हैं।
मुख्य सचिव ने कृषि विभाग की पौधरोपण की अहम भूमिका बताते हुए कहा कि शहरों में सडक़ों के किनारे सजावटी वृक्ष लगाने के निर्देश दिए। बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख शासन सचिव अपर्णा अरोड़ा और यूडीएच विभाग के प्रमुख शासन सचिव कुन्जी लाल मीणा ने भी वेबिनार के माध्यम से भाग लिया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned