खिलाड़ी निराश, लेकिन वे इसे समझते हैं ' मरेन

देश और दुनियाभर में फैले कोरोनावायरस के कारण भारतीय महिला हॉकी टीम के अधिकतर कार्यक्रम स्थगित और रद्द किए जा चुके हैं।

By: Lalit Prasad Sharma

Published: 19 Mar 2020, 12:39 AM IST

नई दिल्ली. देश और दुनियाभर में फैले कोरोनावायरस के कारण भारतीय महिला हॉकी टीम के अधिकतर कार्यक्रम स्थगित और रद्द किए जा चुके हैं। लेकिन कोच शुअर्ड मरेन टीम की तैयारी की योजना को लेकर किसी तरह के भारी बदलाव के बारे में नहीं सोच रहे हैं। भारतीय टीम को 14 से 25 मार्च तक चीन का दौरा करना था, जिसे फरवरी में पहले ही रद्द किया जा चुका है। टीम को जून में एशियाई चैंपियनशिप में भी भाग लेना है और उस पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। मरेन से कहा, "जहां तक ओलंपिक की बात है तो वह तय समय पर ही होने जा रहा है। अब हमें केवल अपना दौरा ही देखना है।" उन्होंने कहा, "हमें नीदरलैंड्स, जर्मनी और जून में एशियाई चैंपियनशिप का दौरा करना था। हमें यह देखना होगा कि कौन सा संभव है। अगर ऐसा नहीं होता है तो हमें इसे स्वीकार करना होगा। खेल में बदलती परिस्थितियों को स्वीकार करना आम बात है। हॉकी इंडिया जो कुछ भी कर सकती है, वह साई के साथ मिलकर कर रही है। इसलिए मैं कोई अलग रणनीति नहीं बनाना चाहता।"

मरेन ने कहा कि उन्होंने सोमवार को ही खिलाडिय़ों के साथ एक बैठक की है, जिसमें उन्होंने खिलाडिय़ों को बताया है कि उन्हें 24 जुलाई से शुरू होने वाले टोक्यो ओलंपिक पर अपना ध्यान लगाना है। कोच ने कहा, "जब तक हम कुछ और नहीं सुनते तब तक हम अपने कार्यक्रम पर ध्यान लगाना जारी रखते हैं। वे (खिलाड़ी) बहुत निराश थे कि वे घर नहीं जा सकते। लेकिन वे भी इस स्थिति को समझते हैं जोकि सबसे महत्वपूर्ण है।"
उन्होंने कहा, "अगर आप अपने परिवार को चार सप्ताह तक नहीं देखते हैं तो आप निराश होंगे। उन्हें वास्तव में ब्रेक की जरूरत थी। ब्रेक केवल शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक भी है। इसलिए अब हमें इस तरह की चीजों से निपटना होगा।"

Lalit Prasad Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned