निकाय चुनाव में हार, पांच जिलों के अध्यक्षों पर गिर सकती है गाज

भाजपा ने प्रदेश के 50 निकाय चुनावों में हार की वजह तलाशना शुरू कर दी है। इसके लिए संभागवार बैठकों के दौर तेज हो गए हैं। भाजपा मुख्यालय पर सोमवार को भरतपुर संभाग की बैठक हुई। बैठक में संकेत मिले हैं कि पोचे प्रदर्शन के चलते कुछ जिलाध्यक्षों की छुट्टी हो सकती है।

By: Umesh Sharma

Published: 28 Dec 2020, 07:25 PM IST

जयपुर।

भाजपा ने प्रदेश के 50 निकाय चुनावों में हार की वजह तलाशना शुरू कर दी है। इसके लिए संभागवार बैठकों के दौर तेज हो गए हैं। भाजपा मुख्यालय पर सोमवार को भरतपुर संभाग की बैठक हुई। बैठक में संकेत मिले हैं कि पोचे प्रदर्शन के चलते कुछ जिलाध्यक्षों की छुट्टी हो सकती है।

भाजपा ने पंचायती राज चुनावों में उम्मीद से अच्छा प्रदर्शन किया था। इसके बाद पार्टी को निकाय चुनाव में भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी, लेकिन आधा दर्जन जिलों पार्टी का पूरी तरह से सफाया हो गया। इसे लेकर पार्टी ने हारने वाले जिलों से धरातल की रिपोर्ट मंगवाई है और संकेत इस बार के मिल रहे है कि इस हार, गुटबाजी और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने वाले पदाधिकारियों पर गाज गिर सकती है जिनमें बताया जा रहा है कि लगभग पांच जिलाध्यक्षों और जिला प्रभारियों और सम्भाग प्रभारियों समेत अन्य पदाधिकारियों की छुट्टी हो सकती है। भाजपा मुख्यालय पर प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, संभाग प्रभारी रामचरण बोहरा ने क्षेत्र के निकाय, जिला प्रभारियों की बैठक ली। बैठक में जिलाध्यक्षों को भी बुलाया गया था। पूर्वी राजस्थान के लगभग 32 निकायों में भाजपा को शिकस्त का सामना करना पड़ा है। यही वजह है कि संगठन ने सभी नेताओं से हार की वजह पूछी। भाजपा अब मान रही है कि पूर्वी राजस्थान में प्रदर्शन कमजोर रहा है।

राजनीतिक और संगठनात्मक जमीन तैयार करेंगे

बैठक के बाद प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि अब भाजपा का फोकस है कि हार वाले स्थानों पर राजनीतिक और संगठनात्मक जमीन तैयार की जाए। इसलिए पूर्णकालीक कार्यकर्ताओं की टीम तैयार की जाएगी। पूनियां ने माना कि बूथ इकाइयों और राजनैतिक गतिविधियों समेत राजनैतिक मुद्दों पर काम करने की आवश्यकता है। हम एक्शन प्लान तैयार कर रहे है। ताकि एक अच्छी टीम का गठन हो सके।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned