बेवजह बाहर निकले तो सख्ती से पेश आएगी पुलिस

4 हजार पुलिसकर्मियों को लगाया नाकाबंदी में

By: Lalit Tiwari

Published: 20 Apr 2021, 12:06 AM IST

प्रदेश में चल रहे लॉकडाउन के बाद भी लोग घरों से बाहर निकलने से बाज नहीं आ रहे है। पुलिस की सख्ती के बाद भी लोग चोरी छिपे बाहर निकल रहे है। कोई डॉक्टर की पुरानी पर्ची लेकर दिखाने के बहाने सैर सपाटा करता हुआ नजर आ रहा है तो कई लोग मजदूरों को पैसा देने के बहाने घरों से निकल रहे है। दिन भर पुलिस इसी माथापच्ची से गुजरती रही और तहकीकात करती रही कि कौन सही और कौन गलत हैं। हालांकि कई जगह झूठ पकड़ने के बाद उनका चालान भी किया गया तो कई लोगों के वाहन भी जब्त किए गए। उधर सरकार की ओर से शुरु किए गए जन अनुशासन पखवाड़े में पुलिस की सख्ती लगातार जा रही। पुलिस ने शहर में 81 नाकाबंदी पाइंट बनाए है जहां पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। सोमवार को अतिरिक्त पुलिस आयुक्त द्वितीय राहुल प्रकाश के नेतृत्व में डीसीपी और अन्य अधिकारियों ने शहर में फ्लेग मार्च किया। लोगों से समझाइश कर घरों में रहने की अपील की। एडिसीपी ने बताया कि किसी भी वाहन चालक को सड़क पर आने का ठोस कारण बताना होगा। कोई कारण नहीं होने या बहाना बनाने पर वाहन को जब्त किया जाएगा। नियम विरूद्ध तरीके से दुकान खोलने वालो पर भी कार्रवाई होगी। जिन लोगों को दुकान खोलने की अनुमति है वहां पर किसी तरह की कोविड गाइड लाइन और राज्य सरकार के दिशा निर्देशों की पालना नहीं होने पर दुकान को सीज किया जाएगा। पूरे शहर में चार हजार पुलिसकर्मियों को नाकाबंदी में लगाया गया है शहर में 81 जगहों पर नाकाबंदी है जहां पर वाहनों को रोककर पूछताछ की जा रही है। अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर ने सभी थानाधिकारियों को अपने अपने क्षेत्र में सेनेटाइजेशन करवाने और कोरोना प्रोटोकॉल की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

Show More
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned