नियमों की सख्ती के कारण सियासी माहौल गायब, सूना-सूना नजर आ रहा विश्वविद्यालय

दोपहर दो बजे तक तो पूरे विश्वविद्यालय परिसर में एक-दो विद्यार्थी ही दिख रहे...

By: dinesh

Published: 22 Aug 2017, 11:59 AM IST

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है। 28 अगस्त को चुनाव हैं, लेकिन इस चुनाव को लेकर कैंपस में सियासी माहौल कहीं भी नजर नहीं आ रहा हैं। नियमों की सख्ती के कारण विश्वविद्यालय कैंपस के साथ ही इसके संघटक महाविद्यालयों में कई भी चुनावी माहौल नजर नहीं आ रहा है। नियमों की सख्ती के कारण कैंपस पूरी तरह खाली खाली नजर आ रहा है। कैंपस में आम दिनों से कम विद्यार्थियों की भीड़-भीड़ नजर आ रही है और दोपहर दो बजे तक तो पूरे विश्वविद्यालय परिसर में एक-दो विद्यार्थी नजर आते हैं।

 

विभागों के चुनाव बंद होना भी कारण
राज्य सरकार की ओर से चुनावों की तारीख से ठीक पहले बदलते नियमों ने भी कैंपस को सूना कर दिया है। इस बार भी पीजी के विभागों में चुनाव बंद होने के कारण कोई भी विभाग चुनावी माहौल में रंगे नजर नहीं आ रहे हैं। साथ ही महाविद्यालयों में प्रशासन की सख्ती के कारण और बदले नियमों के कारण कॉलेज भी खाली-खाली ही दिखाई दे रहे हैं। विवि के 35 पीजी विभाग के विद्यार्थी इस बाद अपेक्स पद पर तो मतदान कर सकेंगे, लेकिन विभाग के लिए पदाधिकारी नहीं चुन सकेंगे। यहां पर टॉपर को अध्यक्ष बनाया जाएगा।

 

पुलिस भी सख्त
कैंपस में चुनावों में शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस ने भी कमर कस ली है। पूरा कैंपस पुलिस छावनी में तब्दील हो चुका है और बाहर से आने वाले किसी भी वाहन को विवि में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। वही कर्मचारियों के वाहनों को भी सख्त जांच के बाद ही प्रवेश मिल रहा है। पूरा कैंपस व संघटक महाविद्यालयों में पुलिस के करीब तीन सौ जवान व अधिकारी तैनात हैं, जो कैंपस में एक साथ मार्च पास्ट भी करते हैं और विद्यार्थियों को एक साथ इकट्ठा नहीं होने देते हैं। साथ ही विश्वविद्यालय के हॉस्टलस में भी पुलिस छापे मार रही है, जहां से अनाधिकृत रूप से रह रहे विद्यार्थियों को बाहर निकाला जा रहा है।

 

एबीवीपी में बागियों को मनाने का दौर
जयपुर द्य राजस्थान विश्वविद्यालय में एबीवीपी के उम्मीदवारों की घोषणा के साथ ही बागियों ने भी ताल ठोक दी है। टिकट नहीं मिलने से नाराज पवन यादव ने बागी होकर चुनाव लडऩे की बात कही है, इसके बाद बागियों को मनाने का दौर भी शुरू हो गया है। सूत्रों की माने तो संगठन के बड़े पदाधिकारी बागियों को मनाने की कवायद में जुट गए हैं, वहीं गत वर्ष संगठन से बागी हुए कुछ सदस्यों को फिर से संगठन से जोडऩे की कवायद शुरू हो गई है।

 

एबीवीपी प्रत्याशियों ने कैंपस में किया प्रचार
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता आज सुबह से प्रचार के लिए निकले। जिसमें अध्यक्ष पद के दोवदार संजय माचैडी, महासचिव पद के दावेदार राकेश यादव, उपाध्यक्ष पद की दावेदार रितु चौधरी के साथ संयुक्त संचिव पद की दावेदार मनीषा मीणा विद्यार्थियों के बीच पहुंची और वोट मांगे। शाम तक प्रचार का सिलसिला जारी रहेगा, प्रत्याशी संघटक महाविद्यालयों में भी प्रचार के लिए जाएंगे।

 

एनएसयूआई आज घोषित करेगी अपने प्रत्याशी
वहीं एनएसयूआई अपने प्रत्याशियों की घोषणा आज करेगी। बनीपार्क स्थित एनएसयूआई कार्यालय में देर रात से ही टिकट को लेकर मंथन चलता रहा। एनएसयूआई में अध्यक्ष पद की दौड़ के लिए पांच और महासचिव पद के लिए चार उम्मीदवारों ने आवेदन किया है। आज दोपहर तक एनएसयूआई की ओर से अंतिम पैनल की घोषणा की जाएगी।

 

इसके साथ ही कल चुनावों के लिए नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे व गुरुवार को नामांकन वापस लेने का अंतिम दिन होगा। इसके बाद विवि में तीन दिन का अवकाश रहेगा और मतदान 28 अगस्त को होंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned