हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद है सीमित मात्रा में वसा का प्रयोग

एंजियोप्लास्टी के बाद तंबाकू एवं ज्यादा तैलीय चीजों से परहेज करें।

By: Archana Kumawat

Published: 11 Jan 2021, 07:27 AM IST

हृदय रोग के पीछे मुख्य वजह धमनियों में वसा का जमाव है। इससे धमनियां ब्लॉक हो जाती हैं। इन्हें खोलने के लिए कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की जाती है। इसके बाद हृदय का सही तरीके से ध्यान रखना जरूरी है ताकि रोग दोबारा न हो। ऐेसे में दवाइयों के साथ सही खानपान पर ध्यान देना जरूरी है। कई बार एंजियोप्लास्टी के बाद सही जानकारी के अभाव में मुश्किलें बढ़ जाती हैं। मरीज के आहार में घी और तेल को बिल्कुल बंद कर दिया जाता है जबकि आहार में सीमित मात्रा में फैट्स का प्रयोग महत्त्वपूर्ण है। हैल्दी फैट्स में जैतून का तेल, देसी घी, कम वसायुक्त डेयरी उत्पाद लें। इनके अलावा सर्दी में बाहर निकलते समय हृदय रोगी सिर, मुंह और सीने को कवर करें। खाना खाने के तुरंत बाद टहलने से बचें।
डॉ. शुभम् जोशी, हृदय रोग विशेषज्ञ, कोटा
बादाम और अखरोट लें
एंजियोप्लास्टी के बाद तंबाकू एवं ज्यादा तैलीय चीजों से परहेज करें। हृदय रोगी महीने भर में २५० ग्राम तक घी-तेल खा सकते हैं। फल ज्यादा मात्रा में खाएं। नियमित 10 बादाम और दो अखरोट भिगोकर प्रयोग करें। सप्ताह में पांच दिन 45-60 मिनट तक तेज गति से चलें। सर्जरी के बाद एक महीने तक वाहन नहीं चलाएं।

Archana Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned