गरीबी से मजबूर बेटे ने कचरे में फेंका मां का शव

— पोस्टमार्टम में महिला के पेट में नहीं मिला अन्न

By: Ankita Sharma

Published: 13 Aug 2019, 02:11 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

 


— कई दिनों से भूखे थे मां—बेटे

 


और अब विचलित कर देने वाली एक खबर तमिलनाडु से। तमिलनाडु के तूतीकोरिन में गरीबी ने एक बेटे को इतना मजबूर कर दिया कि उसे अपनी मां के शव को कचरे में फेंकना पड़ा। इस बेटे के पास मां के अंतिम संस्कार के लिए रुपए नहीं थे। हालांकि मामला सामने आने के बाद कुछ लोग आगे आए और अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी उठाई। महिला का बेटा एक मंदिर में पुजारी है। महिला की पहचान 60 साल की एन बसंती के रूप में हुई है। बसंती तूतिकोरिन के धनसेकरन नगर में अपने अविवाहित बेटे एन मुथुलक्ष्मणन के साथ रहती थीं। उनके पति चेन्नै में रहते हैं। पुलिस का कहना है कि बसंती के पति भी बहुत गरीब हैं। मुथुलक्ष्मणन एक स्थानीय मंदिर में पुजारी हैं लेकिन उन्‍हें मंदिर से पर्याप्त आय नहीं होती थी। मां-बेटे इतने गरीब थे कि दोनों को भरपेट खाना भी नहीं मिलता था। खाना न मिलने का असर यह हुआ कि दोनों का शरीर काफी कमजोर हो गया था। कमजोरी के कारण मां बीमार हो गई थी लेकिन बेटा उनका इलाज भी नहीं करा पाया। आखिरकार बसंती ने भूख से दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम में उसके पेट में अन्न का एक भी दाना नहीं निकला है। बेटे के पास अंतिम संस्‍कार करने का कोई साधन नहीं था इसलिए उसने उनके शरीर को एक बेडशीट में लपेट लिया और एक कूड़ेदान में ले जाकर फेंक दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned