चुनावी साल में सरकार ने जनता को लुभाने के लिए पिटारा खोला तो चौगुने आवेदक आ गए सामने

चुनावी साल में सरकार ने जनता को लुभाने के लिए पिटारा खोला तो चौगुने आवेदक आ गए सामने

kamlesh sharma | Publish: Jun, 17 2018 03:58:27 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

चुनावी साल में सरकार ने ग्रामीण जनता को लुभाने के लिए आवास योजना में नया पिटारा खोला तो आवेदकों की बाढ़ आ गई है।

जयपुर। चुनावी साल में सरकार ने ग्रामीण जनता को लुभाने के लिए आवास योजना में नया पिटारा खोला तो आवेदकों की बाढ़ आ गई है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में पिछले 3 वित्तीय वर्षों में सरकार ने कुल 6.17 लाख लाभार्थी चयनित किए थे। अब नए लाभार्थियों की पहचान के लिए चुनावी साल में शुरू हुई मशक्कत में 24 लाख से अधिक आवेदन ग्रामीण विकास विभाग को मिले हैं।

मामला अप्रेल में शुरू हुआ, जब केन्द्र के निर्देश पर राज्य सरकार ने पूरे प्रदेश की ग्राम पंचायतों में विशेष ग्रामसभाएं आयोजित कर वंचित लाभार्थियों की फिर से पहचान करने के निर्देश दिए। हाल ही ग्राम पंचायतों से रिपोर्ट आई तो 24 लाख नए आवेदनों की जानकारी मिली है। इन आवेदनों पर अब पहले पंचायत समिति आौर फिर जिला स्तर पर जांच होगी कि कितने आवेदन योजना के मानदंडों के अनुसार खरे उतरते हैं। फिर इन्हें मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली समिति की बैठक में रखा जाएगा। राज्य स्तर से अनुमोदन के बाद ही इन्हें केन्द्र को भेजा जाएगा।

पुराने लक्ष्य अभी अधूरे
चुनावी साल में भले ही सरकार नए लाभार्थियों को जोड़ रही हो लेकिन पिछले २ साल में तय किए आवास के लक्ष्य भी पूरे नहीं हुए हैं। वित्तीय वर्ष 2016-17 और 2017-18 के कुल 4.73 लाख आवासों मेंं से मई के अंत तक 66 प्रतिशत आवास ही पूरे हो पाए हैं। 2018-19 के आवास पूर्ण होना अभी बाकी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned