scriptPrashasan Shaharon Ke Sang Abhiyan Preparatory Camp Patta Abhiyan | प्रशासन शहरों के संग अभियान:- राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज होंगे 'मास्टरस्ट्रोक' | Patrika News

प्रशासन शहरों के संग अभियान:- राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज होंगे 'मास्टरस्ट्रोक'

प्रशासन शहरों के संग अभियान की सफलता के लिए बरसों पुराने रिकॉर्ड के तौर पर सहेजी गई विरासत एक मील का पत्थर साबित होगी। राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज के जरिए सरकार पुरानी बसवाट में पट्टे देने की तैयारी कर रही है। स्वायत्त शासन विभाग को उम्मीद है कि अभिलेखागार की मदद से अभियान के दौरान करीब 5 लाख पट्टे जारी किए जा सकते हैं।

जयपुर

Updated: August 22, 2021 07:24:48 pm

जयपुर।

प्रशासन शहरों के संग अभियान की सफलता के लिए बरसों पुराने रिकॉर्ड के तौर पर सहेजी गई विरासत एक मील का पत्थर साबित होगी। राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज के जरिए सरकार पुरानी बसवाट में पट्टे देने की तैयारी कर रही है। स्वायत्त शासन विभाग को उम्मीद है कि अभिलेखागार की मदद से अभियान के दौरान करीब 5 लाख पट्टे जारी किए जा सकते हैं।
प्रशासन शहरों के संग अभियान:- राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज होंगे 'मास्टरस्ट्रोक'
प्रशासन शहरों के संग अभियान:- राज्य अभिलेखागार के डिजिटाइज 20 लाख दस्तावेज होंगे 'मास्टरस्ट्रोक'
यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के निर्देश पर नगरीय विकास विभाग और स्वायत्त शासन विभाग के आला अधिकारियों ने अपना फोकस शहरों में पुरानी आबादी की भूमि के नियमन पर कर लिया है। यह नियमन राजस्थान नगर पालिका अधिनियम की धारा 69 ए के तहत किया जाएगा। लेकिन पुरानी आबादी के इन इलाकों में लोग बरसों से निवास कर रहे हैं। इनमें अधिकतर लोगों के पास जमीन के मालिकाना हक के प्रमाणित व स्पष्ट दस्तावेज नहीं हैं। प्रमाणीकृत दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिहाज का राजस्थान राज्य अभिलेखागार की अहम भूमिका होगी। स्वायत्त शासन विभाग की ओर से प्रदेश के कला एवं संस्कृति विभाग को पत्र भेजा है।
20 लाख पट्टों को डिजिटाइज किया

राजस्थान राज्य अभिलेखागार बीकानेर ने वर्ष 1953 के पहले रियासत काल में जारी 20 लाख पट्टों को डिजिटाइज किया है। बड़ी संख्या में अभिलेखागार के पास ऐसे पट्टे भी हैं, जिनको डिजिटाइज नहीं किया गया। रियासत काल में जारी ये दस्तावेज, पट्टे या जमीन से जुड़े मालिकाना हक के अन्य दस्तावेज के तौर पर हैं। रियासत काल के होने के कारण ये दस्तावेज शहरों की पुरानी आबादी की भूमि के हैं। जिन 20 लाख प्रकरणों के दस्तावेजों को डिजिटाइज किया गया है, उनमें अधिकतर दस्तावेज बीकानेर संभाग के जिलों के हैं। बीकानेर संभाग के हनुमानगढ़, बीकानेर, चूरू और गंगानगर बीकानेर रियासत में ही शामिल थे। इन चारों जिलों के संपूर्ण दस्तावेजों के साथ ही अभिलेखागार के पास कुछ दस्तावेज जोधपुर व उदयपुर शहर के भी हैं।
बीकानेर संभाग की बैठक में शामिल हुए थे अधिकारी

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने पिछले दिनों बीकानेर संभाग के निकायों की अभियान की तैयारियों के लिए बीकानेर में ही बैठक ली थी। उस बैठक में राजस्थान राज्य अभिलेखागार के अधिकारी भी शामिल हुए थे। बैठक के बाद धारीवाल, यूडीएच सलाहकार जीएस संधु व अन्य आला अधिकारियों ने राजस्थान राज्य अभिलेखागार के बीकानेर स्थित निदेशालय में पुरानी आबादी की भूमि के संधारित रिकॉर्ड का निरीक्षण भी किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीबाघिन के हमले से वाइल्ड बोर ढेर, देखते रहे गए पर्यटक, देखें टाइगर के शिकार का लाइव वीडियोइन 4 राशि की लड़कियों का हर जगह रहता है दबदबा, हर किसी पर पड़ती हैं भारीआनंद महिंद्रा ने पूरा किया वादा, जुगाड़ जीप बनाने वाले शख्स को बदले में दी नई Mahindra BoleroFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रबिहार में तिरंगा फहराने के दौरान पाइप में करंट से बच्चे की मौत, कई झुलसेरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितएक गांव ऐसा भी: यहां इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्मUP Assembly Elections 2022 : सपा सांसद आजम खां जेल से ही करेंगे नामांकन, कोर्ट ने दी अनुमतिहाईवे के ओवरब्रिजों में सीरियल बम प्लांट, जानिए सीएम योगी के लिए लेटर में क्या लिखा, Video
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.