जयपुर में फिर 'ऑपरेशन पिंक' की तैयारी

vinod saini

Publish: Jun, 13 2019 01:41:34 AM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

आज से 3 दिन तक समझाइश, अगले सप्ताह से कार्रवाई
शहरी सरकार के निर्देश, बरामदें खाली कर लो, नहीं तो कार्रवाई

महापौर ने बुलाई, व्यापार मंडल के पदाधिकारियों की बैठक

जयपुर। परकोटे के बाजारों में फिर बरामदों को खाली कराने का अभियान चलेगा। नगर निगम इनमें अतिक्रमण हटाने के लिए 'बाजार अतिक्रमण मुक्त' अभियान चलाएगा। हालांकि इससे पहले परकोटे के बाजारों में गुरुवार से तीन दिन तक समझाइश अभियान चलाया जाएगा।
इस दौरान बरामदे खाली करने व अतिक्रमण हटाने के लिए मुनादी करवाई जाएगी। इसके बाद नगर निगम अतिक्रमण हटाने के लिए कार्रवाई करेगा। बरामदों व फुटपाथ से सामान जब्त किया जाएगा। अतिक्रमण मुक्त कराने के बाद बाजारों में गार्ड तैनात किए जाएंगे।

धारीवाल की नाराजगी के बाद जागा निगम

चारदीवारी में बाजारों के बरामदों में हो रहे अतिक्रमण पर यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की नाराजगी के बाद शहरी सरकार की नींद खुली। अब शहर के बाजारों से अतिक्रमण हटाने के लिए नगर निगम 'बाजार अतिक्रमण मुक्तÓ अभियान चलाएगा।

पहले परकोटा, फिर बाहरी बाजार

इसकी शुरूआत परकोटे से होगी। पहले परकोटे के बाजारों के बरामदे खाली कराकर बाजार को भी अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा। इसके लिए परकोटे को एक मॉडल बनाया जाएगा, इसके बाद चारदीवारी के बाहर के बाजारों को भी अतिक्रमण मुक्त कराने का अभियान चलेगा।

------------
व्यापारी अड़े... सड़क से भी हटाओ अतिक्रमण

बरामदों से अतिक्रमण हटाने और व्यापारियों से समझाइश करने के लिए नगर निगम में स्मार्ट सिटी, पुलिस अधिकारियों और व्यापारियों की संयुक्त बैठक बुलाई। इसमें महापौर विष्णु लाटा व निगम आयुक्त विजयपाल सिंह ने व्यापारियों से बरामदे खाली करने की बात कही। इस पर व्यापारियों ने भी शर्त रख दी कि पहले बरामदों के बाहर सड़क पर हो रहे अस्थाई अतिक्रमण हटाओ, व्यापारी खुद ही बरामदे खाली कर देंगे। उन्होंने बाजारों की समस्याएं भी गिनाईं।
------------------

व्यापारियों ने गिनाई समस्याएं
1. बरामदों के ऊपर कचरा-गंदगी पड़ी रहती है। बारिश में पानी जमा होकर रिसने लगता है।

- मेयर के निर्देश, तीन दिन में कर्मचारी लगाकर सभी बरामदों में ऊपर सफाई करवा दी जाएगी।
2. बरामदों में लाइटें बंद रहती हैं।

- निगम का तर्क, बरामदों में लाइट आमेर विकास प्रबंधन प्राधिकरण (एडमा) ने लगवाई है। इसकी मेंटिनेंस का काम भी एडमा ही करेंगी। हालांकि महापौर ने कहा कि एडमा से निगम अधिकारी चर्चा कर लाइटें ठीक करवाएंगे।
3. हवामहल बाजार में बरामदों पर ६-६ फुट की ईंट से दीवारें बना दी। उन पर प्लास्टर नहीं किया गया, अब बंदर कूदते हैं तो ईंटे नीचे गिर रही हैं।

- स्मार्ट सिटी सीईओ ने कहा, एक-दो दिन में बाजार का दौरा कर इसे देखेंगे और समस्या का समाधान करा देंगे।
4. बाजारों में महिलाओं के लिए शौचालय व यूरिनल नहीं हैं।

- महापौर लाटा ने व्यापारियों से जगह उपलब्ध कराने की बात कही। इस पर व्यापारियों ने हाथ खड़े करते हुए कहा, निगम ही तलाशे जगह।
------------

2 घंटे बाद भी वाहन खड़ा रहा तो घर पहुंचेगा चालान
शहर के बाजारों में अब २ घंटे से अधिक देर वाहन खडे रहे तो लोगों के घर चालान पहुंचेगा। बैठक में व्यापारियों ने शहर के बाजारों में ट्रैफिक जाम और पार्किंग की समस्या गिनाई। एमआई रोड व्यापार मंडल महामंत्री सुरेश सैनी ने बाजार में पार्किंग में गाडि़यां कई दिनों तक खड़ी रहने की बात कही। इस पर इस पर महापौर लाटा ने कहा, शहर के सभी ९१ वार्डों में ट्रैफिक आदि की समस्या के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। निगम सीसीटीवी कैमरे खरीद रहा है। १५-२० दिन में एमआई रोड पर इन्हें लगाया जाएगा। इसके बाद सभी बाजारों में ये कैमरे लगाए जाएंगे। बैठक में ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि बाजार में कैमरे लगने के बाद उनकी मॉनिटरिंग की जाएगी, पार्किंग में अगर किसी ने २ घंटे से अधिक देर वाहन खड़ा किया तो उसके घर चालान पहुंचेगा।

----------
पहले भी चला अभियान

पहले भी कांग्रेस सरकार के समय वर्ष 1998 व 2008 में भी एेसे अभियान चले थे। ऑपरेशन पिंक के तहत चारदीवारी में बरामदों से स्थाई व अस्थाई कब्जे हटाए गए थे। इस दौरान चारदीवारी के अलावा शहर के अन्य क्षेत्रों से भी अस्थायी अतिक्रमण हटाने का बड़ा अभियान चला था। इसके बाद वर्ष 2008 में भी सरकार बनने के बाद ऑपरेशन परकोटा चलाया था, तब बड़ी संख्या में चारदीवारी से बरामदे खाली करवाने के साथ-साथ पहली बार बड़ी चौपड़ और छोटी चौपड़ के खंदों से अतिक्रमण हटाए गए थे।
----------

यूडीएच मंत्री हुए थे नाराज
नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने किशनपोल बाजार में स्मार्ट रोड का निरीक्षण किया था, तक उन्होंने फुटपाथ को तोड़कर उसकी जगह पार्किंग के लिए सामान्य जगह करने के निर्देश दिए थे। आमजन के लिए चलने के लिए उन्होंने बरामदों को ही उपयुक्त बताया था। बरामदों में हो रहे अतिक्रमण को देख वे काफी नाराज हुए और इसे हटाने के निर्देश दिए थे।

-----------
बाजारों में हो रहे अतिक्रमण हो हटाएंगे। इसके लिए हमने व्यापारियों से समझाइश की है। व्यापारियों ने भी बरामदे खाली करने की सहमति दी है। अगर अतिक्रमण नहंी हटेंगे तो हम अतिक्रमण हटाएंगे। हम किसी को परेशान नहीं करना चाहते हैं, जयपुर की जनता हमारे परिवार जैसी है। लेकिन शहर को सुंदर और अतिक्रमण मुक्त करने में सहयोग हम भी चाहते हैं।

- विष्णु लाटा, महापौर
------

बाजारों को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए गुरुवार से अभियान शुरू करेंगे। पहले दो-तीन दिन मुनादी कर समझाइश करेंगे। इसके बाद कार्रवाई कर अतिक्रमण हटाएंगे और सामान जब्त करेंगे। पहले परकोटे को अतिक्रमण मुक्त कराएंगे, इसके बाद बाहरी बाजारों में अतिक्रमण हटाएंगे।
राजीव दत्ता, उपायुक्त सतर्कता नगर निगम

----------
व्यापारी भी चाहते हैं कि बरामदे खाली रहे, लेकिन पहले सड़क पर हो रहे अस्थाई अतिक्रमण भी हटने चाहिए। इससे बाजार में ट्रैफिक जाम की स्थित बनी रहती है। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई स्थाई होनी चाहिए। अतिक्रमण हटाने के कुछ दिन बाद वही स्थिति हो जाती है। निगम बाजार में कोई भी काम करे, उससे पहले व्यापारियों से भी समन्वय बनाए।

सुभाष गोयल, अध्यक्ष, जयपुर व्यापार मंडल अध्यक्ष

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned