कोटा में फं से मध्यप्रदेश के 1197 विद्यार्थियों की घर वापसी की तैयारी

जयपुर/भोपाल। राज्य के कोटा शहर ( Kota City ) में फंसे 1197 छात्रों ( Students from Madhya Pradesh ) की वापसी ( Agree to Return MP ) के लिए मध्य प्रदेश सरकार ( MP Govt. prepaired ) ने तैयारी कर ली है। ( Jaipur News )

By: sanjay kaushik

Updated: 18 Apr 2020, 09:07 PM IST

-71 बसें रविवार सुबह पहुंचेंगी कोटा

-बिहार सरकार ने बताया लॉकडाउन नियमों के खिलाफ

जयपुर/भोपाल। राज्य के कोटा शहर ( Kota City ) में फंसे 1197 छात्रों ( Students from Madhya Pradesh ) की वापसी के लिए मध्य प्रदेश सरकार ( MP Govt. prepaired ) ने तैयारी कर ली है। ( Jaipur News ) छात्रों को वापस लाने के लिए शनिवार देर रात करीब 71 वाहन कोटा रवाना किए जाने हैं। मध्य प्रदेश सरकार ने इस बारे में आदेश जारी कर दिए हैं। सरकार का आदेश मिलते ही परिवहन विभाग ने वाहनों के अधिग्रहण की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

-51 जिलों के 1197 विद्यार्थी

जानकारी के मुताबिक जिला स्तर पर कलेक्टर कार्यालय ने परिवहन विभाग को छात्रों की सूची उपलब्ध करा दी है। इसके मुताबिक भोपाल के 39, भिंड के 48, छतरपुर के 50, इंदौर के पांच और ग्वालियर के 68 छात्रों समेत राज्य के 51 जिलों के कुल 1197 छात्रों को कोटा से वापस लाना है।

-उत्तर प्रदेश ने 300 बसें भेजी

सूत्रों के मुताबिक शनिवार देर रात मेडिकल स्टाफ और पुलिस कर्मियों के साथ छात्रों को लाने के लिए वाहन रवाना कर दिए जाएंगे। इससे पहले कोटा में फं से उत्तर प्रदेश के छात्रों को लाने के लिए योगी सरकार शुक्रवार को ही करीब 300 बसें रवाना कर चुकी है।

-बिहार के छात्र अटके

कोरोना महामारी के बीच भारत को इंजीनियर और डॉक्टर देने वाला राजस्थान का कोटा शहर अब राजनीति के अखाड़े में तब्दील हो गया है। बिहार से हजारों की संख्या में इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने कोटा गए हजारों छात्र लॉकडाउन में अटक गए हैं।

-राजनीति का अखाड़ा बन चुका कोटा

करीब 35 हजार फंसे छात्रों की घर वापसी को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच कड़वाहट पैदा हो गई है। दरअसल, कोटा में फंसे छात्रों की घर वापसी को लेकर चर्चा कु छ दिन पहले ही चल रही थी। विवाद तब बढ़ा जब राजस्थान सरकार की ओर से इन छात्रों को अपने घर लौटने के लिए पास जारी किए जाने लगे। कुछ छात्र अपने गृह राज्य की सीमा पर पहुंचे तो उन्हें रोक दिया गया। इसके बाद बिहार सरकार ने केंद्र को पत्र लिखकर कहा कि ये लॉकडाउन के नियमों के खिलाफ है, इस पर तुरंत कार्रवाई की जाए।

sanjay kaushik Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned