आदिवासी समाज का गौरवपूर्ण इतिहास प्रेरणादायी : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री आशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) ने कहा कि प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र ( tribal areas of the Rajasthan ) के महापुरूषों ने देश की आजादी तथा सामाजिक चेतना जागृत करने में बड़ी भूमिका निभाई है। इस अंचल के गौरवपूर्ण इतिहास पर हम सभी को गर्व है।

By: Ashish

Published: 14 Jan 2021, 08:57 PM IST

जयपुर

मुख्यमंत्री आशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) ने कहा कि प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र ( tribal areas of the Rajasthan ) के महापुरूषों ने देश की आजादी तथा सामाजिक चेतना जागृत करने में बड़ी भूमिका निभाई है। इस अंचल के गौरवपूर्ण इतिहास पर हम सभी को गर्व है। राज्य सरकार आदिवासी समाज क़े त्याग एवं बलिदान की गौरव गाथाओं को जन-जन तक पहुंचाने तथा इस अंचल के विकास में कोई कमी नहीं रखेगी। गहलोत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बांसवाड़ा नगर परिषद परिसर में भील राजा बांसिया ( Bhil king Bansia's statue ) की प्रतिमा के अनावरण समारोह को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानगढ़ धाम पर गोविन्द गुरू के नेतृत्व में जुटे सैकड़ों आदिवासी भाई-बहनों ने देश के लिए जो शहादत दी, उसे कोई नहीं भूल सकता। मावजी की शिशाओं, नानाभाई खांट, कालीबाई, मामा बालेश्वर दयाल, भीखाभाई भील, हरिदेव जोषी, हरिभाऊ उपाध्याय सहित अन्य महापुरूषों के योगदान को हम सभी आज भी बड़े गर्व से याद करते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब-जब भी हमारी सरकार बनी आदिवासी समाज को केन्द्र में रखकर फैसले किए गए। उसी का परिणाम है कि यह विविध क्षेत्रों में विकास के नए आयाम स्थापित कर रहा है। गहलोत ने कहा कि डूंगरपुर-बांसवाड़ा-रतलाम रेल परियोजना के लिए हमारी पिछली सरकार के समय कदम उठाया गया, लेकिन दुर्भाग्य से यह काम आगे नहीं बढ़ सका। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मैंने इस परियोजना पर काम शुरू करने के लिए आग्रह किया है ताकि यह आदिवासी क्षेत्र रेल माध्यम से जुड़ सके।

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि भील राजा बांसिया की प्रतिमा से नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि बांसवाड़ा में 320 करोड़ रूपए से पेयजल एवं सीवरेज की महत्वाकांक्षी योजना पर जल्द काम शुरू किया जा रहा है। इसका लाभ यहां की करीब एक लाख की आबादी को मिलेगा। जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री आरजं सिंह बामनिया ने कहा कि समाई माता पहाड़ी क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए राज्य सरकार काम कर रही है। सांसद कनकमल कटारा, विधायक हरेन्द्र निनामा, कैलाश मीणा, रमिला खडि़या, जिला प्रमुख रेशम मालवीय, नगर परिषद सभापति जैनेन्द्र त्रिवेदी ने भी संबोधित किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned