Private School- पुनर्भरण राशि का भुगतान करवाए जाने की मांग

Private School- स्वयंसेवी शिक्षण संस्था संघ राजस्थान के अध्यक्ष एलसी भारतीय के नेतृत्व में संघ के शिष्टमंडल ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य से वार्ता की। उन्होंने मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर जानकारी दी कि आरटीई के तहत सत्र 2020-21 में एडमिशन लेने वाले अधिकांश विद्यार्थियों की पुनर्भरण राशि को दावा प्रपत्र में नहीं दर्शाने के कारण संस्थाओं को आर्थिक नुकसान हो रहा है ।

By: Rakhi Hajela

Published: 14 Oct 2021, 08:54 PM IST

स्वयंसेवी शिक्षण संस्था संघ राजस्थान के प्रतिनिधिमंडल ने की मुख्य सचिव से भेंट

जयपुर । स्वयंसेवी शिक्षण संस्था संघ राजस्थान के अध्यक्ष एलसी भारतीय के नेतृत्व में संघ के शिष्टमंडल ने मुख्य सचिव निरंजन आर्य से वार्ता की। उन्होंने मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर जानकारी दी कि आरटीई के तहत सत्र 2020-21 में एडमिशन लेने वाले अधिकांश विद्यार्थियों की पुनर्भरण राशि को दावा प्रपत्र में नहीं दर्शाने के कारण संस्थाओं को आर्थिक नुकसान हो रहा है । विभाग ने छात्रों के नाम व सूचनाओं को लाल मार्क से दर्शा कर संस्थाओं की पुनर्भरण राशि के दावे को रोक दिया है।
उनका कहना था कि पांचवीं कक्षा तक के ग्रामीण क्षेत्र के अधिकांश विद्यार्थियों के अभिभावक निरक्षर है और उनके पास मोबाइल इंटरनेट की सुविधा नहीं है। अध्यापक ऑनलाइन शिक्षण के लिए प्रशिक्षित नहीं है। लॉकडाउन के कारण स्कूल बंद थे। स्कूल खोले जाने की मांग लगातार की गई लेकिन सरकार ने अब जाकर पहली से पांचवीं तक के स्कूल खोले हैं। छोटे बच्चों की पढ़ाई बाधित हुई। अब विभाग ने सभी विद्यार्थियों को अगली कक्षा में क्रमोन्नत कर दिया है लेकिन शिक्षा विभाग छोटे बच्चों की ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन नहीं होने को गलत तरीके से मार्क कर स्कूलों की पुनर्भरण राशि का भुगतान रोक रहा है। भारतीय ने बताया कि मुख्य सचिव ने उनकी समस्याओं का जल्द सुलझाए जाने का आश्वासन दिया है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned