प्रगतिशील पशुपालकों को मिलेगा सम्मान


राज्य स्तर पर दिए जाएंगे 2 पशुपालकों को 50-50 हजार रुपए
पशुपालन विभाग करेगा राज्य, जिला व पंचायत समिति स्तर पर सम्मान
पशुपालकों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा भावना जगाने के लिए कवायद

By: Rakhi Hajela

Published: 28 May 2021, 06:18 PM IST


प्रदेश का पशुपालन विभाग (Animal Husbandry Department) पशुपालकों (cattlemen ) में स्वस्थ प्रतिस्पद्र्धा (Healthy competition) की भावना पैदा करने के लिए उनका सम्मान करेगा। दरअसल प्रदेश के पशुपालकों का आर्थिक और सामाजिक विकास कर उन्हें पशुधन विकास की मुख्य धारा से जोडऩे और उन्हें प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विभाग ने पशुपालक सम्मान समारोह के आयोजन का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा की अनुपालना करते हुए विभाग के उप सचिव अशोक सोनी ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं जिसके मुताबिक चयनित प्रगतिशील पशुपालकों को 50 हजार रुपए की राशि पुरस्कार स्वरूप दी जाएगी।

यह है योजना का उद्देश्य
: पशुपालकों में स्वस्थ प्रतिस्पद्र्धा का विकास
: पशुपालकों को उन्नत नस्ल के पशु रखने के लिए प्रेरित करना
: आधुनिक और नई तकनीक से पशु देखभाल करने से उत्पादकता के प्रभाव को दर्शाना
: नस्ल सुधार के लिए कृत्रिम गर्भाधान की महत्ता बताना
: पशुपालकों का आर्थिक और सामाजिक विकास कर उन्हें पशुधन विकास की मुख्य धारा से जोडऩा
: योजना के माध्यम से प्रगतिशील पशुपालकों को चिह्नित कर उन्हें प्रोत्साहित करना

इनका होगा चयन
विभाग इस योजना के तहत उन पशुपालकों का चयन करेगा, जिन्होंने पशुपालन के क्षेत्र में नवाचार कर नए आयाम स्थापित किए हो , जो अन्य के लिए प्रेरणा स्त्रोत बन सकें। ऐसे पशुपालक जो पशुपालन की नई तकनीक का उपयोग कर उन्नत नस्ल की पशुओं का पालन करते हो, जिन्हें विभाग की योजनाओं की जानकारी हो और वह उनका लाभ प्राप्त करता हो। विभाग की विभिन्न प्रतियोगिताओं में पुरस्कृत हो चुके पशुपालकों को प्राथमिकता दी जाएगी।

पंचायत से राज्य स्तर पर होगा चयन
: पंचायत समिति स्तर पर 352 पशुपालकों को सम्मानित किया जाएगा
: हर पशुपालक को 10 हजार रुपए की राशि दी जाएगी।
: जिला स्तर पर कुल 68 पशुपालकों का चयन होगा
: हर पशुपालक को जिला स्तर पर 25 हजार रुपए की राशि दी जाएगी
: राज्य स्तर पर दो पशुपालकों का चयन होगा उन्हें सम्मान स्वरूप 50-50 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाएगी
: 31 अगस्त तक पंचायत समिति और जिला स्तर पर चयनित पशुपालकों की सूची विभाग को भिजवानी होगी।

ऐसे किया जाएगा पशुपालकों का चयन
: पंचायत स्तर पर तीन पशुपालक सम्मानित होंगे।
: यदि पंचायत स्तर के पशुपालक का चयन जिला स्तर पर होता है तो उसी पंचायत समिति में दूसरे स्थान पर रहे पशुपालक का चयन पुरस्कार के लिए होगा।
: पंचायत समिति स्तर के प्रथम स्थान वाले पशुपालक जिला स्तर पर चुने जाएंगे।
: हर जिले से दो पशुपालकों का चयन पुरस्कार के लिए किया जाएगा।
: जिला स्तर पर चयनित पशुपालकों में से यदि किसी का चयन राज्य स्तर के लिए होता है तो उसी जिले में तीसरे स्थान पर रहे पशुपालक को जिला स्तर पर सम्मानित किया जाएगा।
: चयनित पशुपालक को एक ही स्तर पर सम्मानित किया जा सकेगा।
: राज्य स्तर पर पुरस्कृत पशुपालक जिला स्तर पर सम्मानित नहीं होगा।
: जिला स्तर पर सम्मानित पशुपालक पंचायत समिति स्तर पर सम्मानित नहीं होगा।

चयन समिति करेगी पशुपालकों का चयन
विभाग ने पशुपालकों के चयन के लिए तीन कमेटियों का भी गठन किया जाएगा। पंचायत समिति स्तर पर उपखंड अधिकारी तहसीलदार या पंचायत समिति का विकास अधिकारी तीन सदस्यीय कमेटी के अध्यक्ष होंगे। वहीं जिला स्तर पर जिला कलेक्टर या सहायक जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में पांच सदस्यों की कमेटी गठित की जाएगी। राज्य स्तर पर प्रमुख शासन सचिव या शासन सचिव पशुपालन विभाग की अध्यक्षता में 6 सदस्यों की कमेटी इन पशुपालकों का चयन करेगी।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned