scriptpromising marriage is not cheating rajasthan high court | राजस्थान हाईकोर्ट: विवाह का वादा कर इनकार करना धोखा नहीं, जानें पूरा मामला | Patrika News

राजस्थान हाईकोर्ट: विवाह का वादा कर इनकार करना धोखा नहीं, जानें पूरा मामला

राजस्थान हाईकोर्ट ने अलवर के महिला थाने में दर्ज बलात्कार की एफआइआर को रद्द कर दिया।

जयपुर

Published: February 26, 2022 04:15:23 pm

राजस्थान हाईकोर्ट ने अलवर के महिला थाने में दर्ज बलात्कार की एफआइआर को रद्द कर दिया। कोर्ट ने अपने फैसले में माना कि विवाह का वादा करते हुए शारीरिक संबंध बनते हैं और फिर विवाह नहीं होता है तो इसे धोखाधड़ी नहीं मान सकते हैं। जब कि पक्षकार की शुरू से ही धोखा देने या संबंध तोड़ने की मंशा नहीं रही हो। अधिवक्ता मोहित बलवदा ने बताया कि याचिकाकर्ता की शिकायतकर्ता युवती से जान-पहचान हुई। दोनों के बीच कई बार शारीरिक संबंध भी बने।
rajasthan_high_court.jpg
दोनों के बीच विवाद होने पर युवती ने 2 फरवरी 2020 को धोखाधड़ी से बलात्कार का मामला दर्ज करवाया। इसमें कहा कि उसके अश्लील फोटोग्राफ बनाकर ब्लैकमेल किया गया।

याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट में एफआइआर रद्द करने के लिए याचिका दायर की थी। अधिवक्ता बलवदा ने कोर्ट ने याचिकाकर्ता के गुजरात में कस्टम अधिकारी के पद पर ड्यूटी पर होने के संबंध में दस्तावेज पेश किए। इसी के साथ सोशल मीडिया पर चैट का रेकॉर्ड रखते हुए कहा कि पूरा मामला बनावटी है। न्यायाधीश फरजंद अली अपने फैसले में कहा कि याचिकाकर्ता ने विवाह से कब इनकार किया यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन लगता है कि यह संभवत:2018 में हुआ होगा।
इसके बाद भी शिकायतकर्ता युवती का लंबे समय तक चुप रहना और कोई कार्रवाई करना गंभीर संदेह उत्पन्न करता है। इतना ही नहीं युवती इसके बाद भी याचिकाकर्ता के साथ लंबे समय तक संबंध में रही और कोई कदम नहीं उठाया। कोर्ट ने माना कि युवती का परिवार याचिकाकर्ता के साथ विवाह करने को राजी नहीं था।
देखना होगा धोखाधड़ी है या नहीं
कोर्ट ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण लेकिन रुटीन केस हो चुके हैं कि युवक-युवती प्रेम में पड़कर शारीरिक संबंध कायम कर लेते हैं और बाद में उनमें ब्रेकअप हो जाता है। इस मामले में भी दोनों प्रेम में पड़कर संबंध बनाते रहे लेकिन समय के साथ दोनों के संबंध खराब हो गए। यदि किसी अनपढ़ महिला को विवाह का वादा करके शारीरिक संबंध बनाकर इनकार करने पर माना जा सकता है कि उसकी सहमति धोखाधड़ी से ली है। लेकिन यदि शिकायतकर्ता पढ़ी-लिखी और सेवारत है तो यह कहना कि सहमति धोखे से ली है उसे सही नहीं मान सकते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

दिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलIAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.