पहले किया प्रमोट, अब देने होंगे एग्जाम


असमंजस में लॉ सैकंड ईयर के स्टूडेंट्स
यूनिवसिर्टी ने जारी की एग्जाम की डेट शीट

By: Rakhi Hajela

Updated: 17 Sep 2020, 12:39 PM IST

राजस्थान विवि से जुड़े लॉ कॉलेजों के सैकेंड ईयर के स्टूडेंट्स इस समय असमंजस की स्थिति में है। विवि प्रशासन की ओर से लिए गए निर्णय ने उनके लिए परेशानी खड़ी कर दी है। विवि प्रशासन ने लॉ सैकेंड ईयर के विद्यार्थियों के एडमिट कार्ड जारी करते हुए 25 सितंबर से उनकी परीक्षा लिए जाने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि यह वह विद्यार्थी हैं जिन्हें पहले प्रमोट किया जा चुका है और अब अचानक परीक्षा की तिथि घोषित किए जाने और एडमिट कार्ड जारी होने से यह विद्यार्थी परेशान हैं। उनका कहना है कि वह फाइनल ईयर के लिए आवेदन कर चुके हैं। उनका कहना था कि जब उन्हें प्रमोट किया जा चुका है तो विवि प्रशासन परीक्षा क्यों करवा रहा है और जब परीक्षा ही करवानी थी तो प्रमोट क्यों किया गया। यूनिवर्सिटी का कहना है कि एलएलबी द्वितीय वर्ष पूरी करने पर एकेडमिक और 3 वर्ष पूरी करने पर प्रोफेशनल कोर्स की डिग्री मिलती है। ऐसे में एकेडमिक डिग्री लेने वालों का तो फाइनल दूसरा साल ही है।

विद्यार्थियों ने किया प्रदर्शन
लॉ स्टूडेंट्स ने इस मुद्दे को लेकर राजस्थान विवि में कुलपति सचिवालय के समक्ष प्रदर्शन किया। छात्रों ने परीक्षा की तिथि आगे बढ़ाए जाने की मांग की। उन्होंने अपनी मांग को लेकर कुलपति को भी ज्ञापन दिया। कुलपति ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वह छात्र हित को देखते हुए ही निर्णय करेंगे। गौरतलब है कि एमएचआरडी के निर्देश के बाद विवि प्रशासन ने पहले साल के छात्रों को इंटर्नल असेसमेंट के आधार पर अगले सेमेस्टर में प्रमोट करने और दूसरे साल के छात्रों को मौजूदा साल के इंटर्नल असेसमेंट और पिछले साल के माक्र्स के आधार पर प्रमोट करने का निर्णय लिया था और प्रदेश के लॉ कॉलेजों की ओर से छात्रों को इस संबंध में सूचना भी जारी कर दी गई थी कि उन्हें प्रमोट कर दिया गया है इसलिए अब वह फाइनल ईयर की फीस जमा करवाएं।

इनका कहना है
लॉ के छात्र मेरे पास आए थे और अपनी समस्या बताई थी। जल्द ही छात्र हित को देखते हुए ही निर्णय लिया जाएगा।
प्रो.राजीव जैन, कुलपति,
राजस्थान विवि

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned