कोरोना इफेक्ट: बिना परीक्षा पास किए ही अगली कक्षा में जाएंगे विद्यार्थी

केन्द्रीय विद्यालयों के 8 वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को किया जाएगा पदोन्नत, ई ग्रेड और मेडिकल ग्राउण्ड वाले भी जाएंगे अगली कक्षा में, शिक्षा का अधिकार कानून के तहत किए जाएंगे पदोन्नत

जयपुर। देशभर में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए एहतियात के तौर पर अभी सभी शिक्षण संस्थानों में अवकाश चल रहा है। आगामी सत्र पहले से ही देर से शुरू होगा, ऐसे में विद्यार्थी हितों को देखते हुए केन्द्रीय विद्यालय संगठन ने निर्णय किया है कि अब कक्षा 8 तक के सभी विद्यार्थियों को अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा। इसमें ऐसे भी विद्यार्थी शामिल होंगे, जिन्होंने किसी भी कारण से परीक्षा नहीं दी है। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्कूलों में जिस समय छुट्टी की गई उस समय इन कक्षाओं की 2 से तीन परीक्षाएं भी होना शेष रह गई थी।

केन्द्रीय विद्यालय संगठन के डिप्टी कमीश्नर यशपाल सिंह ने नोटिफिकेशन में बताया कि कक्षा 1 और 2 के विद्यार्थियों को मासिक उपलब्धि परीक्षण में उनके प्रदर्शन के आधार पर अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा। इसी तरह कक्षा 3 से 8 तक के विद्यार्थियों को उन विषयों में वेटेज देकर अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा, जिसकी वे परीक्षा में उपस्थित नहीं हो सके। उन्होंने बताया कि कक्षा 8 तक के ऐसे विद्यार्थी, जिनके ई ग्रेड मिली है, उन्हें भी बिना किसी इम्प्रुवमेंट टेस्ट के अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा। परीक्षा का परिणाम भी अभिभावकों को ई—मेल, व्हाटअप या एसएमएस के जरिए दिया जाएगा।

पहले ये था नियम
शिक्षा के अधिकार कानून के नियमों के तहत आठवीं कक्षा तक विद्यार्थियों को फेल करने का प्रावधान नहीं है, अब तक कमजोर विद्यार्थियों को अगली कक्षा में भेजने से पहले उन्हें अगली कक्षा के लिए एक बार और तैयार किया जाता था। अलग से कक्षाएं लगाई जाती थी, उसके बाद इन विद्यार्थियों का इम्प्रुवमेंट टेस्ट होता था, इस बार यह टेस्ट नहीं होगा। ई ग्रेड वाले भी सीधे अगली कक्षा में ही जाएंगे।

MOHIT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned