मच्छरों से बचाव के लिए प्रदेश में बांटेंगे 22 लाख मच्छरदानी, पर जयपुर सहित सात जिलों में नहीं

डेंगू व मलेरिया (Dengue and Malaria) जैसी जानलेवा बीमारियों (Fatal diseases) से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग (health Department) की ओर से प्रदेश में करीब 22 लाख से अधिक निशुल्क मच्छरदानियां (Mosquito nets) बांटी जाएगी।

By: vinod

Published: 03 Dec 2019, 01:25 AM IST

-मौसमी बीमारियों पर रोकथाम के लिए सरकार की योजना

चूरू/जयपुर। डेंगू व मलेरिया (Dengue and Malaria) जैसी जानलेवा बीमारियों (Fatal diseases) से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग (health Department) की ओर से प्रदेश में करीब 22 लाख से अधिक निशुल्क मच्छरदानियां (Mosquito nets) बांटी जाएगी। मच्छरों के काटने से फैलने वाली बीमारियों पर रोक लगाने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से कवायद शुरू की गई है। प्रदेश में इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सक्रिय हो चुका है। चूरू जिले में करीब तीन लाख से अधिक मच्छर दानियां बांटी जाएगी। पहले चरण में 30 हजार बांटी जाने वाली मच्छरदानियों का स्टॉक आ चुका है। जिले में सर्वाधिक मच्छरदानी रतनगढ़ तहसील में बांटी जाएगी। इस योजना में फिलहाल राजगढ़ को छोड़कर सभी तहसीलों को शामिल किया गया है।

सबसे ज्यादा उदयपुर में, सात जिलों में एक भी नहीं
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की माने तो सर्वाधिक मच्छरदानियां उदयपुर जिले में करीब तीन लाख 59 हजार 750 बांटी जाएगी। दूसरी तरफ जयपुर, सीकर, करौली, गंगानगर, जैसलमेर, झालावाड़ व टोंक में एक भी मच्छरदानी नहीं बांटी जाएगी। फिलहाल योजना में इन जिलों को शामिल नहीं किया गया है। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि इन जिलों में पिछले तीन सालों में मौसमी बीमारियों के रोगियों की संख्या अपेक्षाकृत कम रही है।

तीन साइज की मच्छरदानियां
ये मच्छरदानियां तीन साइज की है, साइज एक एक व्यक्ति के लिए, साइज दो-दो व्यक्तियों के लिए व साइज तीन में तीन से अधिक लोगों के लिए है। फिलहाल चूरू जिले में साइज एक प्रकार की मच्छरदानियों की सप्लाई की गई है। मच्छरदानियों का वितरण करने के लिए आशा सहयोगिनियों को जिम्मेदारी दी गई है। इसके लिए विभाग की ओर से उन्हें मानदेय भी दिया जाएगा। मच्छरदानी के उपयोग के लिए आशा सहयोगिनियों की ओर से लाभांवितों को जानकारी दी जाएगी।

इनको मिलेगी
डिप्टी सीएमएचओ डॉ. देवकरण गुरावा ने बताया कि मच्छरदानियां वितरण में उन परिवारों को प्राथमिकता दी जाएगी, जहां पर मलेरिया व डेंगू के रोगी पहले मिल चुके हंै। ऐसे परिवारों को चिन्हित करने का काम स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुरू कर दिया है। योजना में गर्भवती महिलाओं व पांच साल के छोटे बच्चों को प्राथमिकता दी जाएगी।

स्टॉक पहुंचा, शीघ्र ही बांटेंगे
मच्छरदानियों का स्टॉक हमारे पास पहुंच चुका है, जिन्हें जिले में शीघ्र ही बटवाने का काम शुरू किया जाएगा।
डॉ. भंवरलाल, सीएमएचओ चूरू

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned