कर्मचारी संगठनों में जारी वेतन कटौती का विरोध

राज्य सरकार ( state government ) की ओर से कोरोना संकट ( Corona crisis ) को देखते हुए की जा रही वेतन कटौती के विरोध में कर्मचारी संगठनों ( employee organizations ) की नाराजगी कम होने का नाम नहीं ले रही है।

By: Ashish

Published: 18 Oct 2020, 05:22 PM IST

जयपुर
राज्य सरकार ( state government ) की ओर से कोरोना संकट ( Corona crisis ) को देखते हुए की जा रही वेतन कटौती के विरोध में कर्मचारी संगठनों ( employee organizations ) की नाराजगी कम होने का नाम नहीं ले रही है। कर्मचारी संगठन सोशल मीडिया पर वेतन कटौती का विरोध जताने के साथ ही आगामी रणनीति बना रहे हैं। पहले वेतन स्थगित करने और फिर मासिक रूप से वेतन कटौती करने के सरकार के निर्णय से कर्मचारी संगठनों में इस बात की आशंका भी है कि कहीं वेतन कटौती के हिस्से को सरकार कहीं और बढ़ा नहीं दे। इन स्थितियों को देखते हुए कर्मचारी संगठन वेतन कटौती का विरोध कर रहे हैं।

कर्मचारी संगठनों में एक ओर कार्मिकों की वेतन कटौती करने और दूसरी ओर जनप्रतिनिधियों के भत्ते बढ़ाने से भी नाराजगी है। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के जिलामंत्री रतन कुमार प्रजापति का कहना है कि वेतन कटौती करके राज्य सरकार की ओर से कर्मचारियों से असंवैधानिक तरीके से वसूली की जा रही है जो अनुचित है। महासंघ ने अपनी बैठक में यह निर्णय लिया है कि सरकार ने वेतन कटौती के आदेश वापस नहीं लिए तो 08 नवंबर कोसमस्त विधायकों का घेराव किया जाएगा और 11 नवंबर को समस्त जिला मुख्यालयों पर कर्मचारी वेतन कटौती के विरोध में गिरफ्तारी देकर अपनी नाराजगी जताएंगे।

इसके साथ ही राजस्थान के मंत्रालयिक {संवर्ग} के कर्मचारी भी वेतन कटौती को लेकर फिर से लामबंद हो गए हैं। इस बार संगठन एकजुट होकर संघर्ष समिति बनाकर वेतन कटौती का विरोध करने की तैयारी कर रहे हैं। कर्मचारी नेता राजेश पारीक ने बताया कि इसके लिए अगले महीने एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है, जिसमें आगामी रणनीति तय की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned