Jaipur / घर—घर बज उठे थाली—ताली, हुआ शंखनाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) के आह्वान पर रविवार को जनता कर्फ्यू (Public curfew) के बीच शाम 5 बजे घर—घर थाली—ताली व शंखनाद के स्वर गूंज उठे। लोगों के उत्साह के बीच कोराना वायरस संक्रमण का भय और डर गायब नजर आया।

By: Girraj Sharma

Published: 22 Mar 2020, 07:41 PM IST

घर—घर बज उठे थाली—ताली, हुआ शंखनाद

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) के आह्वान पर रविवार को जनता कर्फ्यू (Public curfew) के बीच शाम 5 बजे घर—घर थाली—ताली व शंखनाद के स्वर गूंज उठे। लोगों के उत्साह के बीच कोराना वायरस संक्रमण का भय और डर गायब नजर आया। शहर में चारोंओर एकजुटता दिखाई दी। सुबह से घरों में कैद लोग परिजनों के साथ बाहर आ गए। दरवाजे के साथ मकानों की बालकनी और छतों पर थाली—ताली, घंटी व शंखनाद के स्वर गूंज उठे। शहर में वर्षों पुरानी पंरपरा फिर से साकार हो उठी।

चारदीवारी क्षेत्र में लोगों का उत्साह देखने को मिला। परकोटे के बाहरी क्षेत्र राजापार्क, झोटवाडा, मानसरोवर, सांगानेर, सी स्कीम, गांधी नगर, बनीपार्क, आदर्श नगर सहित पूरे शहर में बच्चे, युवा और बुजुर्गों ने घर—घर थाली—ताली बजाई। जयपुर फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष सियाशरण लश्करी ने बताया कि महाभारत काल से ही विजय की कामना के लिए लडाई से पहले शंखनाद व धोसे बजाए जाते थे, लेकिन आधुनिकता ने उसे भूला दिया। अब फिर कोराना वायरस से लडाई जीतने के लिए देश एकजुट हुआ और थाली—ताली व शंखनाद कर परंपरा को जीवंत किया।

शुक संप्रदाय पीठाधीश्वर अलबेली माधुरी शरण महाराज ने बताया कि यह हमारी परंपरा का हिस्सा रहा है, हर खुशी के मौके पर लोग थाली बजाते आए हैं। शाम के समय शंख, घंटी की आवाजें गूंजा करती थी।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned