जनता की राय, आखिर नए साल में क्या रहेगा जीवन में बदलाव

साल 2020 में कोरोना महामारी ( corona epidemic ) ने लगभग हर क्षेत्र को प्रभावित किया। इस महामारी से सामने आए हालातों से लोगों की जीवनशैली पर भी असर पड़ा।

By: Ashish

Published: 30 Dec 2020, 07:02 PM IST

जयपुर/आशीष शर्मा

साल 2020 में कोरोना महामारी ( corona epidemic ) ने लगभग हर क्षेत्र को प्रभावित किया। इस महामारी से सामने आए हालातों से लोगों की जीवनशैली पर भी असर पड़ा। महामारी का कोई स्थाई उपचार नहीं आने से सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सेनेटाइजर ( social distancing, masks and sanitizers ) जीवन बचाने के लिए जरूरी हो गए और सरकारी सख्ती, जन जागरूकता के उपायों से ये काफी हद तक जीवन का हिस्सा भी बन चुके हैं। नए साल को लेकर लोगों में नई उम्मीदें हैं कि नए साल में कोरोना की वैक्सीन मिलने के साथ ही सब कुछ पहले की तहर नॉर्मल होने लगेगा। हालांकि जब तक हालात पूरी तरह से सामान्य नहीं हो जाते हैं तब तक नए साल में भी हमें कुछ बदलावों को दिनचर्या का हिस्सा बनाए रखना होगा। कुछ नए बदलाव भी देखने को मिल सकते हैं। पत्रिका ने लोगों से जब यह जाना कि नए साल में उनके जीवन में किस तरह का बदलाव देखने को मिलेगा तो कई तरह की बातें निकलकर सामने आईं।
नए साल से हैं काफी उम्मीदें
व्यवसायी श्रीराम अग्रवाल कहते हैं कि कोरोना के चलते 2020 इसका उपचार तलाशने,जीवन को बचाने में गुजर गया। कोरोना के चलते उपजे हालातों ने अर्थव्यवस्था, मानव जीवन, रोजगार, शादी संबंध, सामाजिक गतिविधियों के साथ ही अन्य कई क्षेत्रों पर विपरीत असर डाला। लेकिन अब उम्मीद है कि नए साल 2021 में सबकुछ पहले की तरह सामान्य हो जाएगा। अग्रवाल का कहना है कि उन्होंने भारत में निर्मित वैक्सीन ट्रायल के चलते लगवाई है। नए साल में कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन स्वस्थ्य बने रहने और इस महामारी के खात्मे के लिए जीवन में आने वाला बेहद जरूरी बदलाव होगा।
जीवन के लिए वैक्सीनेशन होगा जरूरी
वहीं, निजी क्षेत्र में कार्यरत मनीष केड़िया का कहना है कि नया साल सभी के लिए अच्छा रहेगा। कोरोना के चलते न केवल काफी लोगों को जीवन खोना पड़ा बल्कि इसका बुरा असर हमारे जीवन और जरूरी कामकाजों पर पड़ा। अब नए साल में उम्मीद है कि वैक्सीनेशन के बाद कोरोना का खात्मा होने से फिर से सब सामान्य हो सकेगा।
अभी हमें मास्क लगाना नहीं भूलना
कर्मचारी बाबू सिंह का कहना है कि जब तक कोरोना का खात्मा नहीं हो जाता हैं सभी को सोशल डिस्टेंसिंग, स्वच्छता और मास्क लगाने को दिनचर्या का हिस्सा बनाकर ही रखना होगा। वहीं, रामवतार शर्मा कहते हैं कि नए साल में खुद को फिट रखते हुए कोरोना से बचाव और इसके खात्मे के लिए लड़ना होगा। मितव्ययता से काम करने होंगे।
रोजगार के अवसरों बढ़ोतरी की उम्मीद
वहीं, व्यवसायी चौथमल शर्मा का कहना है कि नए साल में फिर से सभी नॉर्मल तब हो सकेगा, जबकि कोरोना का खात्मा हो, साथ ही आर्थिक रूप से सभी लोग फिर से मजबूत हो सकें। इसके लिए सरकार को रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी के साथ ही निजी क्षेत्र को आर्थिक संबंल देना चाहिए। तभी जाकर जीवन में नए बदलाव संभव हो सकेंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned