वेतन बढ़ोतरी के लिए मुख्यमंत्री को लिख रहे जनप्रतिनिधि

कोरोना संकट ( Corona crisis ) को देखते हुए राज्य में सरकार की ओर से कार्मिकों की वेतन कटौती का निर्णय लिया गया है..

By: Ashish

Published: 16 Sep 2020, 05:23 PM IST

जयपुर

कोरोना संकट ( Corona crisis ) को देखते हुए राज्य में सरकार की ओर से कार्मिकों की वेतन कटौती का निर्णय लिया गया है, वहीं दूसरी ओर कई जनप्रतिनिधि ( public representatives ) जूनियर इंजीनियर ( junior engineers ) , पुलिस कांस्टेबल ( police constables ) समेत अन्य की वेतन बढ़ोतरी के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सोशल मीडिया के साथ् ही पत्र लिखकर इनकी मांगों का समर्थन कर रहे हैं। पिछले दिनों मुख्य सचेतक महेश जोशी ने पुलिस कांस्टेबलों की ग्रेड पे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था। अब जूनियर इंजीनियर्स की ग्रेड पे बढ़ाने की मांग को लेकर राज्य के कई विधायक और सांसद मुख्यमंत्री गहलोत को पत्र लिखकर इसकी अभिशंषा कर चुके हैं।

दरअसल, राज्य के पड़ौसी राज्यों की तुलना में कम वेतन होने से नाराज जूनियर इंजीनियर अपनी मांग को लेकर सोशल मीडिया पर ट्ववीटर पर एक्टिव रहने के साथ ही जनप्रतिनिधियों से भी गुहार लगा रहे हैं। इनका यह कहना है कि जब राज्य के अन्य पड़ौसी राज्यों में जूनियर इंजीनियर्स को प्रथम श्रेणी का वेतन दिया जा रहा है तो फिर राजस्थान में तृतीय श्रेणी का वेतन आखिरकार क्यों दिया जा रहा है। राजस्थान में जूनियर इंजीनियर को लेवल 10 यानि 3600 ग्रेड पे दी जा रही है। जूनियर इंजीनियर्स की ग्रेड पे बढ़ाने की मांग को लेकर हाल ही में सांसद राहुल कस्वा ट्ववीट कर इस मांग का समर्थन कर चुके हैं। वहीं, डूंगरपुर से विधायक गणेश घोगरा, पचपदरा से विधायक मदन प्रजापत के साथ अन्य ग्रेड पे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम अभिशंषा पत्र लिख चुके हैं।

मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने मुख्य मंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर पुलिस कांस्टेबलों की ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर 3600 करने का आग्रह किया था। जोशी ने कहा था कि पुलिस तंत्र की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी कांस्टेबल है। ये हर चुनौती का डटकर मुकाबला करते हैं। इसलिए इनकी ग्रेड पे बढ़ाई जाए। हालांकि कोरोना संकट को देखते हुए राज्य सरकार ने कार्मिकों की हर महीने वेतन कटौती करने का निर्णय लिया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned